‘BJP-बजरंग दल को ISI से फंडिंग’, कांग्रेस का बयान से किनारा, कहा- दिग्विजय ही दें सबूत

आईएसआई से फंडिंग के अपने बयान से कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पलटते दिखाई दे रहे हैं. मामले को तूल पकड़ता देख उन्‍होंने अब सफाई जारी की है.

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह अपने ही बयान से पलट गए हैं. रविवार को उन्होंने कहा कि भाजपा और बजरंग दल पैसे लेकर आईएसआई के लिए जासूसी कर रहे हैं. हालांकि उनको अपनी ही पार्टी का साथ नहीं मिला. कांग्रेस ने कहा कि अब दिग्विजय ही उनका सबूत देंगे. जब कांग्रेस ने ही उनके बयान से कन्नी काट ली तो दिग्गी बयान से पलट गए, और उन्होंने इसे सिरे से खारिज कर दिया है. इसे लेकर उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘कुछ चैनल चला रहे हैं कि मैंने भाजपा पर यह आरोप लगाया है कि वे आईएसआई से पैसा लेकर पाकिस्तान के लिए जासूसी करते हैं. यह पूरी तरह से गलत है.’

उनका बयान आने के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पीएल पुनिया ने पार्टी का पक्ष रखा. पुनिया ने कहा कि पार्टी उनके बयान से सहमत नहीं हैं. पीएल पुनिया का कहना है कि दिग्विजय सिंह ने जिस आधार पर इतना बड़ा बयान दिया है, इसके सूत्र और साक्ष्य वही बताएंगे.

, ‘BJP-बजरंग दल को ISI से फंडिंग’, कांग्रेस का बयान से किनारा, कहा- दिग्विजय ही दें सबूत

इससे पहले मध्यप्रदेश के भिंड में दिग्विजय ने कहा, ‘बजरंग दल, भाजपा आईएसआई (पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी) से पैसा ले रहे हैं. इनपर ध्यान देने की जरूरत है. गैर-मुस्लिम पाकिस्तान की आईएसआई के लिए मुस्लिमों की तुलना में ज्यादा जासूसी कर रहे हैं. हमें इसे समझना चाहिए.”

दिग्विजय सिंह ने आगे कहा कि हमारी विचारधारा की लड़ाई भाजपा और आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) से है जिन्होंने आजाद भारत के संघर्ष में कहीं भाग नहीं लिया और अब हमें राष्ट्रीयता का सबक सीखाना चाहते हैं. दिग्विजय ने कहा, ‘1947 से पहले ये लोग (भाजपा-आरएसएस) कहां थे? जब इंदिरा ने पाकिस्तान के दो टुकड़े किए तब ये लोग कहां थे? इसलिए हमको सबक देने की जरूरत नहीं है.