दिल्ली: तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल कोरोना संक्रमित

तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) का पहला केस मई में आया था. जब यहां के जेल नंबर सात के एक अधिकारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. इसके बाद अधिकारी के संपर्क में आने वाले लोगों की सूची बनाई गई और उनका भी कोरोना टेस्ट कराया गया था.

Tihar Jail

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) का प्रकोप लगातार जारी है. शुक्रवार सुबह तिहाड़ जेल (Tihar Jail) के अधिकारियों ने बताया है कि जेल महानिदेशक संदीप गोयल (Sandeep Goel) भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं. डीजी ने खुद को क्वारंटीन कर लिया है. साथ ही अपने संपर्क में आने वालों को कोरोना टेस्ट कराने की सलाह दी है. मालूम हो कि तिहाड़ जेल में कोरोना संक्रमण का पहला केस मई में आया था. जब यहां के जेल नंबर सात के एक अधिकारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. इसके बाद अधिकारी के संपर्क में आने वाले लोगों की सूची बनाई गई और उनका भी कोरोना टेस्ट कराया गया था.

दिल्ली में अब कोई भी जेल कोरोना से ‘कोरी’ नहीं बची है. राष्ट्रीय राजधानी में तीन जेल तिहाड़, मंडोली और रोहिणी हैं. तीनों जेलों में अब तक कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं. कुछ समय पहले तिहाड़ जेल नंबर 7 के सहायक अधीक्षक की रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव आई थी. सहायक अधीक्षक ने 22 मई को खुद ही अपना कोरोना टेस्ट नमूना दिया था. 24 मई को आई रिपोर्ट में वे कोरोना पॉजिटिव निकले.

दिल्ली में खत्म हो रहा है कोरोना वायरस का दूसरा चरण: अरविंद केजरीवाल

कोरोना के डंक से नहीं बची दिल्ली की जेलें

एशिया में तिहाड़ जेल की सुरक्षा बाकी तमाम जेलों से कहीं ज्यादा चुस्त-दुरुस्त जानी-मानी जाती है. कोरोना के डंक से मगर तिहाड़ और दिल्ली की बाकी अन्य दोनों जेलें भी महफूज नहीं रखी जा सकीं. ऐसा नहीं है कि, दिल्ली की जेलों को कोरोना के डंक से बचाने के पुख्ता इंतजामात नहीं थे. एहतियातन बचाव की हर तैयारी मार्च के शुरुआती दौर में ही पूरी कर ली गई थी. बावजूद इसके कोरोना संक्रमण से नहीं बचा जा सका.

‘राजधानी में कोरोना की दूसरी लहर आ चुकी’

वहीं, दिल्ली सरकार का मानना है कि राजधानी में कोरोनावायरस की दूसरी लहर आ चुकी है. साथ ही दूसरी लहर का पीक भी दिल्ली देख चुकी है. दिल्ली सरकार के मुताबिक, अब कोरोनावायरस की दूसरी लहर का पीक धीरे-धीरे ढलान की ओर है. यानी आने वाले दिनों में दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी देखी जा सकती है.

‘दूसरी लहर का पीक धीरे-धीरे कम होगा’

गुरुवार को दिल्ली के पूसा इंस्टीट्यूट पहुंचे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “एक्सपर्ट्स का कहना है कि दिल्ली में कोरोनावायरस की दूसरी लहर आई थी और अब इसका पीक भी आ चुका है. ऐसा लगता है दूसरी लहर का पीक आने वाले समय में धीरे-धीरे कम होगा. मुझे उम्मीद है और सारे कदम उठाए जा रहे हैं, जैसे कि तेजी से कंटेनमेंट जोन बनाना. 17 अगस्त तक दिल्ली में 550 कंटेनमेंट जोन थे, जिन्हें अब बढ़ाकर 2000 कर दिया गया है.”

दिल्ली में अभी तक 2,56,789 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं. इसके साथ ही इनमें से 2,20,866 कोरोना संक्रमित व्यक्ति स्वस्थ हो चुके हैं. वहीं कोरोना वायरस के कारण 5087 लोगों की मृत्यु हो चुकी है.

कोरोना के इस टीके की सिर्फ एक खुराक काफी, 60 हजार लोगों पर अंतिम चरण का ट्रायल

Related Posts