हर स्टेशन पर पहले से ज्यादा देर रुकेगी मेट्रो, मास्क नहीं पहनने पर लगेगा जुर्माना, ये है DMRC का प्लान

DMCR के वरिष्ठ अधिकारियों ने दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत (Kailash Gehlot) के साथ 15 मई को बैठक की थी. यह बैठक केंद्र सरकार के चौथे चरण के लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा करने से दो दिन पहले हुई थी.
DMRC plan for restart metro service, हर स्टेशन पर पहले से ज्यादा देर रुकेगी मेट्रो, मास्क नहीं पहनने पर लगेगा जुर्माना, ये है DMRC का प्लान

देश की राजधानी में मेट्रो सेवाओं की बहाली के लिए टेंटेटिव स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) तैयार किया गया है. इसके अनुसार, दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMCR) प्रत्येक मेट्रो स्टेशन पर ट्रेन के रुकने के समय को बढ़ाने का प्लान कर रहा है, ताकि चढ़ते और उतरते समय सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) सुनिश्चित की जा सके.

एचटी की रिपोर्ट के अनुसार, DMCR के अधिकारियों ने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) से पहले प्रत्येक स्टेशन पर ट्रेन करीब 30 सेकेंड रुकती थी और इंटरचेंज स्टेशन्स में यह समय थोड़ा बढ़ जाता था. अब जब मेट्रो का संचालन फिर से शुरू होगा, तब ट्रेन के रुकने के समय में 30 सेंकेंड और बढ़ा दिए जाएंगे.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

SOP को केवल केंद्र सरकार के दिशानिर्देश के आधार पर अंतिम रूप दिया जाएगा. इसे लॉकडाउन के चौथे दौर के 31 मई को समाप्त होने से पहले जारी किए जाने की संभावना है. रिपोर्ट के अनुसार, DMCR के वरिष्ठ अधिकारियों ने दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत के साथ 15 मई को बैठक की थी. यह बैठक केंद्र सरकार के चौथे चरण की घोषणा करने से दो दिन पहले हुई थी. स्टेशन्स पर सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन कराने जैसे कई मुद्दों पर चर्चा हुई.

DMCR का ये है प्लान

DMCR अधिकारियों के मुताबिक, ट्रेन में यात्रियों को वैक्लपिक सीटों पर बिठाया जाएगा और प्रत्येक दूसरी सीट को मार्क किया जाएगा. यात्रियों के बैठने के मानदंडों का पालन सुनिश्चित करने के लिए मेट्रो स्टाफ स्टेशन पर ट्रेन के रुकने के बढ़े हुए समय के दौरान सभी कोच की जांच करेंगे. प्रत्येक ट्रिप के बाद ट्रेन को डिसइंफेक्ट किया जाएगा. पहले के मुकाबले मेट्रो की संख्या आधी होगी, क्योंकि एक मेट्रो को डिसइंफेक्ट करने में एक घंटा तक लगेगा.

स्टेशन और ट्रेन में सेनेटाइजेशन का पूरा ध्यान रखा जाएगा. साथ ही यह भी देखा जाएगा कि सभी यात्रियों ने मास्क पहना है या नहीं. IPC की धारा 188 के तहत जुर्माना जारी करने के लिए सुरक्षा एजेंसियों को सशक्त किया जा सकता है. जो स्टेशन और ट्रेन में मास्क पहने हुए नहीं दिखेगा उसपर 200 का जुर्माना और एक महीने की जेल भी हो सकती है.

फिलहाल केंद्र सरकार ने मेट्रो के संचालन पर अभी कोई फैसला नहीं है. इस पर अंतिम फैसला केंद्र सरकार ही करेगी. संभावना जताई जा रही है कि 31 मई को लॉकडाउन खत्म होन के बाद इस पर फैसला लिया जा सकता है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts