‘इमरान ने कई बार कहा भारत-पाकिस्‍तान में मध्‍यस्‍थ बन जाऊं, मैंने मना कर दिया’, ट्रंप ने PM मोदी को बताया

दो दिन के भारत दौरे पर आए अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस बात का जिक्र किया. भारत ने अमेरिका से पाकिस्‍तान पर 'कड़ी नजर' रखने को कहा है.

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अमेरिका से भारत और पाकिस्‍तान के बीच मध्‍यस्‍थता करने को कहा था. अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताया कि वह ऐसा नहीं करना चाहते. दो दिन के भारत दौरे पर आए ट्रंप ने बातचीत के दौरान इसका जिक्र पीएम मोदी से किया. द इंडियन एक्‍सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से यह रिपोर्ट छापी है. इसके मुताबिक, ट्रंप ने पीएम को बताया कि इमरान से जब भी उनकी मुलाकात हुई, PAK पीएम ने मध्‍यस्‍थता का दबाव डाला, मगर उन्‍होंने साफ मना कर दिया.

नई दिल्‍ली यह समझती है कि अफगानिस्‍तान में अपने मकसद को पूरा करने के लिए अमेरिका को पाकिस्‍तान की जरूरत है. भारत ने पाकिस्‍तान पर ‘कड़ी नजर’ रखने को कहा है. भारत ने वाशिंगटन को यह भी बता दिया है कि वह फायनेंशियल एक्‍शन टास्‍क फोर्स (FATF) में पाकिस्‍तान पर दबाव बनाना जारी रखे. आतंकी हमलों की सूरत में भारत के पास खुद को डिफेंड करने का अधिकार है, ट्रंप ने यह बात दोहराई है.

पीएम मोदी ने ट्रंप के साथ मुलाकात में दोनों देशों के बीच समग्रता समझौते को उठाया. अखबार सूत्रों के हवाले से लिखता है कि दोनों नेताओं के बीच यह मुद्दा पहली बार उठा. यह समझौता उन भारतीय प्रोफेशनल्‍स के बारे में है जो सोशल सिक्‍योरिटी में अपना हिस्‍सा चुकाते हैं मगर उसे भारत नहीं ला सकते. यह रकम करीब 12 बिलियन डॉलर बैठती है. ट्रंप ने भारत की चिंता का संज्ञान लिया है. हालांकि इस समझौते पर हस्‍ताक्षर के लिए अमेरिका को अपने कानून में बदलाव करना होगा.

दोनों देश ट्रेड डील का पहला फेज जल्‍द पूरा करने चाहते हैं और फिर एक ‘बड़ी’ ट्रेड डील पर काम करने का प्‍लान है. भारत ने ट्रंप के सामने H1B वीजा का मुद्दा भी उठाया.

ये भी पढ़ें

व्यंग्य: ताजमहल के गाइड और ब्रोकली समोसे वाले शेफ, ट्रंप के भारत दौरे ने बदली इनकी जिंदगी

मुकेश अंबानी ने ट्रंप से कही कुछ ऐसी बात कि उनकी हंसी छूट गई