एयर इंडिया Pilots की मैनेजमेंट को चेतावनी-हमें यूज्ड टिश्यू पेपर न समझें

पायलट्स के समूह ने कहा है कि कोरोना संकट के चलते वर्तमान परिस्थितियों में 'वंदे भारत मिशन' (Vande Bharat Mission) के समय पायलट्स ने न सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक तौर पर भी चुनौती का सामना किया
dont make us feel like tissue paper, एयर इंडिया Pilots की मैनेजमेंट को चेतावनी-हमें यूज्ड टिश्यू पेपर न समझें

एयर इंडिया के कर्मचारियों का कहना है कि कोरोनावायरस संकट ने एयरलाइन (Airline) को अनिश्चितकालीन वित्तीय संकट की स्थिति में डाल दिया है. वहीं एयरलाइंस के कई पायलटों ने आरोप लगाया कि प्रबंधन द्वारा उनके साथ किया गया व्यवहार बेहद खराब रहा है.

एयर इंडिया (Air India) के सूत्रों का कहना है कि नागरिक उड्डयन मंत्रालय का नया आदेश जिसमें एआई प्रबंधन (Air India Management) को पायलटों को उड़ान के घंटों के आधार पर भुगतान करने की पेशकश की गई है, पायलट्स को परेशान करने वाला है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एयर इंडिया (Air India) के एक पायलट ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि प्रबंधन कर्मचारियों का मजाक उड़ा रहा है. एक तरफ तो कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ लड़ाई में हम फ्रंटलाइन वॉरियर्स हैं, हमें बताया गया है कि संकट के समय हम अपनी मातृभूमि की सेवा कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर हमें जो ट्रीटमेंट दी जा रही है वो शर्मनाक है.

यूज्ड टिश्यू पेपर न समझें हमें

एक अन्य पायलट ने कहा कि प्रबंधन को चाहिए कि वो हमें और अन्य पायलट्स को ‘यूज्ड टिश्यू पेपर’ (Used Tissue Paper) न समझें. उड़ानों के आधार पर वेतन हमें निराश करने वाला है, इस तरह के प्रपोज़ल को स्वीकार करने का कोई सवाल ही नहीं है. इससे पहले 4 जून को पाइलट्स बॉडी (Pilots Body) की तरफ से मार्च के फ्लाइंग एलाउंस को क्लियर करने की बात कही गई.

पायलट बॉडी ने कहा है कि कोरोना संकट के चलते वर्तमान परिस्थितियों में ‘वंदे भारत मिशन’ (Vande Bharat Mission) के समय पायलट्स ने न सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक तौर पर भी चुनौती का सामना किया. इनमें से कुछ पायलट्स का कोरोना टेस्ट (Corona Test) भी पॉजिटिव आया. पायलट बॉडी ने कहा कि मार्च फ्लाइंग अलाउंस को तुरंत मंजूरी मिलनी चाहिए. इस बीच कमर्शियल पायलट एसोसिएशन ने 31 मई को प्रबंधन को कड़े शब्दों में एक पत्र लिखा था.

आगे हम किसी उड़ान को संचालित नहीं कर पाएंगे

इस पत्र में लिखा गया कि “सर, आप इस बात की तारीफ करेंगे कि हम ‘नेशनल ड्यूटी’ के रूप में वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) के तहत उड़ानों का संचालन कर रहे हैं और ऑपरेटिंग चालक दल को मिलने वाला ट्रीटमेंट खराब हो. हम अपने पायलट्स को मिलने वाले इस ट्रीटमेंट्स से खुश नहीं है. आने वाले समय में आवश्यक सेवाओं के वक्त हम किसी भी उड़ान को संचालित करने की स्थिति में नहीं होंगे. वहीं एयर इंडिया के एक अधिकारी ने इस मामले पर टिप्पणी करने से साफ इंकार कर दिया. केबिन क्रू ने भी कहा कि हम वर्तमान परिस्थितियों से खुश नहीं है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts