दिल्ली में ड्रग तस्करी का भंडाफोड़, 600 करोड़ की हेरोइन बरामद

स्पेशल सेल ने इस मामले में 2 अफगानिस्तानी मूल के आरोपियों समेत 5 ड्रग तस्करों को गिरफ्तार किया है.
drugs smuggling, दिल्ली में ड्रग तस्करी का भंडाफोड़, 600 करोड़ की हेरोइन बरामद

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली से करीब एक हजार करोड़ रुपये की ड्रग्स बरामद की गई है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दिल्ली में ड्रग्स बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ करते हुए करीब 150 किलो हाई क्वालिटी हेरोइन की खेप बरामद की है. जिसकी इंटरनेशनल मार्केट में कीमत करीब 600 करोड़ रुपये है.

स्पेशल सेल ने इस मामले में 2 अफगानिस्तानी मूल के आरोपियों समेत 5 ड्रग तस्करों को गिरफ्तार किया है. दरअसल, स्पेशल सेल को खुफिया जानकारी मिली थी कि साउथ ईस्ट दिल्ली के इलाके में देर रात कुछ लग्ज़री गाड़ियों का काफिला निकलता है, जिसकी गतिविधि बेहद संदिग्ध है.

काफिले ट्रैप कर पकड़ा

इसके बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को शक हुआ और पुलिस ने उन लग्ज़री गाडियो के काफिले ट्रैप कर पकड़ लिया. जांच के दौरान पता चला कि ये गाड़िया ड्रग तस्करी में शामिल है. जिसके बाद स्पेशल सेल ने 2 गाड़ियों को इंटरसेप्ट करके चेकिंग शुरू की तो पुलिस के भी होश उड़ गए.

क्योंकि उन गाड़ियों में पिछले सीट के हैंड रेस्ट के बीच कैविटी बनाकर ड्रग तस्करों ने करीब 20 से 30 किलो हिरोइन छुपा रखी थी जिसके बाद पुलिस ने मौके से दोनों तस्करों को गिरफ्तार कर लिया. उनसे पूछताछ के बाद दिल्ली पुलिस को पता चला कि दिल्ली में एक जगह इनके कुछ साथियों ने ड्रग्स फैक्ट्री लगा रखी है.

शातिर थे तस्कर

ये तस्कर इतने शातिर थे कि पुलिस से बचने के लिए हेरोईन को एक कैमिकल में मिला देते थे और उस कैमिकल में जूट की बोरियाँ भिगोकर और उन बोरियों में ज़ीरा भरकर अफ़ग़ानिस्तान से हिंदुस्तान मँगाते थे. ताकि जांच एजेंसियों को कोई शक ना हो.

510 किलो गांजा बरामद

वहीं दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 510 किलो गांजे की खेप को पकड़ा है. दरअसल क्राइम ब्रांच को इनपुट मिला था कि गांजा की एक बड़ी खेप दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके में तस्करी के लिए पहुचने वाली है. जिसके बाद क्राइम ब्रांच मौक़े पर पहुँची तो उसके होश उड़ गए.

क्योकि वहां कुछ तस्कर ट्रक से गांजे की बोरिया एक कार में रख रहे थे तभी क्राइम ब्रांच ने उन दोनों तस्करों को रंगे हाथ पकड़ा और 510 किलो गांजा बरामद किया. ड्रग तस्कर सूबे सिंह और दीपक आँध्रप्रदेश और उड़ीसा बॉर्डर के नक्सली इलाके से ड्रग को एक ट्रक में कैविटी बनाकर स्टोर करते थे और फिर उसको लाकर दिल्ली एनसीआर में सप्लाई करते थे.

Related Posts