4 साल की बच्ची को DTC बस में ले जा रहा था किडनैपर, मार्शल की समझदारी से ऐसे पकड़ाया

बच्ची मूल रूप से मध्य प्रदेश की है. किडनैपर बच्ची को नजफगढ़ से नई दिल्ली की तरफ जा रही बस में ले जा रहा था.

दिल्ली की एक बस में मौजूद मार्शल की बहादुरी और समझदारी का मामला सामने आया है. जिसने चार साल की बच्ची का अपहरण होने से बचा लिया. दरअसल, शुक्रवार को मार्शल अरुण कुमार बुधवार को बस रूट नंबर 728 में तैनात थे. ये बस नजफगढ़ से नई दिल्ली की तरफ आ रही थी. उसी बस के अंदर एक शख्स मौजूद था जिसके पास एक 4 साल की बच्ची मौजूद थी.
वह बच्ची काफी देर से रो रही थी. बच्ची को रोता देख बस में तैनात मार्शल अरुण कुमार को शक हुआ. उसने उस शख्स से पूछा कि यह बच्ची आपकी है तो वह घबरा गया और बस से भागने की कोशिश करने लगा.
मार्शल ने कंडक्टर की मदद से भाग रहे किडनैपर को पकड़ा और उसे पुलिस के हवाले कर दिया. ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत ने कहा मुख्यमंत्री ने भी इस बहादुर मार्शल से मुलाकात की और उन्हें बधाई दी. सरकार की ओर से जल्द ही मार्शल को सम्मानित किया जाएगा और सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा.

किडनैपर ने पूछताछ में बताया कि बच्ची को निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से उठाया था. घर वालों ने निजामुद्दीन थाने पर रिपोर्ट भी कराई थी. बच्ची मूल रूप से मध्य प्रदेश की है. वह ट्रेन पकड़ने के लिए स्टेशन गए थें. इसी दौरान बच्ची के पिता पानी लेने गए, तभी मौका देखकर बदमाश ने बच्ची का अपहरण कर लिया. वह अपनी दो अन्य बहनों के साथ मां के पीछे बैठी थी. फिर बदमाश रूट बदल कर भाग रहा था.

वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘बस मार्शल अरुण कुमार जी को मेरा सलूट. आप जैसे लोग दिल्ली की शान हो. हमारे 13,000 बस मार्शल दिल्ली के लाखों बस यात्रियों को सुरक्षा दे रहे हैं. बसों के अंदर की सुरक्षा पर लोगों का विश्वास बनता जा रहा है.’

Bus marshal delhi, 4 साल की बच्ची को DTC बस में ले जा रहा था किडनैपर, मार्शल की समझदारी से ऐसे पकड़ाया

दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए दिल्ली सरकार की ओर से 13 हजार बस मार्शलों की नियुक्ति 29 अक्टूबर को हुई. दिल्ली दुनिया का एकमात्र ऐसा शहर है, जहां इतनी बड़ी संख्या में बस मार्शल तैनात हैं. 3400 बस मार्शल पहले से ही काम कर रहे हैं.
ये भी पढ़ें-