दाऊद के करीबी इकबाल मिर्ची गैंग के दो गुर्गे गिरफ्तार, 200 करोड़ की लैंड डील में की थी मदद

एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट यानी ईडी देशभर में क्राइम सिंडिकेट चलाने वाले तमाम गिरोहों के चल-अचल संपत्तियों को लेकर के लगातार कार्यवाही कर रही है.

नई दिल्ली: ईडी ने इकबाल मिर्ची केस में हारून यूसुफ और रंजीत सिंह बिंद्रा नाम के दो गैंगस्टर्स को गिरफ्तार किया है. सूत्रों की मानें तो बिंद्रा ने इस मामले में दलाली का काम किया था जबकि यूसुफ ने ट्रस्ट को पैसा ट्रांसफर करने में और डील के लिए तमाम लॉजिस्टिक्स प्रोवाइड करने में मदद की थी. इन दोनों को ही मुंबई की अदालत में पेश किया जाएगा.

गौरतलब है कि एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट यानी ईडी देशभर में क्राइम सिंडिकेट चलाने वाले तमाम गिरोहों के चल-अचल संपत्तियों को लेकर के लगातार कार्यवाही कर रही है. इसी संदर्भ में ईडी ने दाऊद के करीबी रहे इकबाल मिर्ची के दो गुर्गे जिन्होंने 200 करोड़ की लैंड डील में उसकी मदद की थी उन्हें गिरफ्त में लिया है.

मेमन इकबाल मोहम्मद उर्फ इकबाल मिर्ची की तलाश पुलिस को हत्या से लेकर हत्या की कोशिश उगाही एक्सटॉर्शन ड्रग तस्करी जैसे कई मामलों में है. 1994 के बाद इकबाल मिर्ची के खिलाफ इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया गया था. धमाकों के बाद वह दुबई चला गया और वहां से उसने अपना बेस्ट लंदन शिफ्ट कर लिया था जहां उसकी 2013 में मौत हो गई. इससे पहले ईडी ने इकबाल मिर्ची की भारत और विदेश में जिसमें यूके भी शामिल है. वहां होने वाली तमाम डीलिंग्स के संदर्भ में जांच पड़ताल शुरू की थी.