फेसबुक और ट्विटर में माहिर वाड्रा लैपटॉप चलाने में फिसड्डी क्यों…ईडी के सवाल पर कोर्ट में छाई खामोशी !

पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई के दौरान ईडी को अदालत ने आदेश दिया कि ED को पांच दिन के अंदर सभी दस्तावेजों की हार्ड कॉपी सौंप दी जाए.

नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा को क्या लैपटॉप चलाना नहीं आता? फेसबुक और ट्विटर पर हमेश सक्रिय रहने वाले वाड्रा क्या वाकई अपने लैपटॉप में डिजिटल दस्तावेज को एक्सेस करना भूल गए हैं? क्या ईडी की पूछताछ के प्रेशर में वाड्रा अपने लैपटॉप की हार्डडिस्क ऑपरेट करने में असहज महसूस कर रहे हैं या फिर मामला कुछ और है?

ये सवाल हम नहीं पूछ रहे बल्कि ईडी के वकील ने अदालत के सामने उठाए हैं। दरअसल, रॉबर्ट वाड्रा की याचिका पर पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई के दौरान ईडी से कोर्ट ने पूछा कि आप कब तक वाड्रा को सारे दस्तावेजों की हार्ड कॉपी सौंप सकते हैं, तो इस पर ईडी ने कोर्ट को बताया कि हार्डकॉपी देना संभव नहीं है और इस केस से जुड़े सभी दस्तावेजों की सॉफ्ट कॉपी हम उन्हें पहले ही दे चुके हैं.

इस पर राबर्ट वाड्रा के वकील के टी एस तुलसी ने कोर्ट से कहा कि लैपटॉप पर दस्तावेजों की सॉफ्ट कॉपी खुल नहीं रही है और हम इसकी अपनी शिकायत ईडी में भी दर्ज करा चुके हैं. इस पर ईडी के वकील में कहा कि “ ये बेहद ही दिलचस्प है कि फेसबुक और ट्विटर पर लगातार सक्रिय रहने वाले वाड्रा को लैपटॉप में हार्डडिस्क ऑपरेट करना नहीं आता”. हालांकि बाद में कोर्ट ने ईडी से 5 दिनों के अंदर वाड्रा के वकील को सभी दस्तावेजों की हार्ड कॉपी उपलब्ध कराने को कहा.

वाड्रा ने ईडी से मांगे थे दस्तावेज
शनिवार को वाड्रा ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दाखिल कर गुहार लगाई थी कि मनी लांड्रिंग से जुड़े मामले में ईडी के कब्जे में लिए गए दस्तावेजों की एक कॉपी उन्हें दी जाए। पटियाला हाउस कोर्ट में रॉबर्ट वाड्रा के मनी लॉड्रिंग मामले से जुड़े दस्तावेजों की कॉपी पाने को लेकर सुनवाई हुई. वाड्रा के वकील टीएस तुलसी ने कहा, अभी तक हमें ईडी से एक भी दस्तावेज नहीं मिला है.

उनके वकील पिछले साल रेड के दौरान वाड्रा के ऑफिस से जब्त किए दस्तावेजों के बारे में भी कोर्ट को बताया और कहा अगर इसकी कॉपी हमें मिलती है तो पूछताछ के दौरान हम उनसे सम्बंधित सवालों के जवाब दे सकते हैं. जब तक दस्तावेज नहीं मिल जाते, तब तक ED की पूछताछ गैरकानूनी है. इस पर कोर्ट ने ED को पांच दिन के अंदर सभी दस्तावेजों की हार्ड कॉपी देने के आदेश दिए.

वाड्रा को कोर्ट से नहीं मिली राहत
रॉबर्ट वाड्रा को दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत से राहत नहीं मिली है. दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा को ईडी की पूछताछ में शामिल होने का आदेश दिया है. कोर्ट में रॉबर्ट वाड्रा के वकील केटीएस तुलनी से ईडी पर बड़ा आरोप लगाया. केटीएस तुलसी ने पटियाला हाउस कोर्ट में कहा कि ईडी को रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ की जल्दी इसलिए है, क्योंकि चुनाव आने वाले हैं. हालांकि इसके बावजूद कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा को ईडी की पूछताछ में शामिल होने को कहा।

2 मार्च को तक मिली है अंतरिम जमानत

रॉबर्ट वाड्रा विदेश में अवैध संपत्ति जुटाने के मामले में प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष 22 फरवरी को पांचवीं बार पेश हुए थे। इससे पहले इसी सिलसिले में वाड्रा से चार बार पूछताछ हो चुकी है। जांच एजेंसी ने बताया कि वाड्रा को दस्तावेज और अन्य आरोपितों के लिखित बयान दिखाए जा रहे हैं। वाड्रा से राजस्थान के बीकानेर जमीन घोटाले के संबंध में विगत 12 और 13 फरवरी को ईडी ने जयपुर में पूछताछ की थी। इसके बाद 15 फरवरी को ईडी ने वाड्रा की कंपनी स्काई लाइट हास्पिटैलिटी प्राइवेट लिमिटेड की दिल्ली के सुखदेव विहार स्थित 4 करोड़ 43 लाख रुपये की संपत्ति भी जब्त कर ली थी। हाल में ही दिल्ली की एक अदालत ने वाड्रा की अंतरिम जमानत 2 मार्च तक बढ़ा दी थी। 2 फरवरी को अदालत ने रॉबर्ट वाड्रा को 16 फरवरी तक की अंतरिम जमानत दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *