अंडे, चिकन, LPG, ढाई लाख भेड़-बकरे, ईद पर कश्मीरियों का दिल जीतेगी सरकार

कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के बाद सरकार इस मौके का इस्तेमाल कश्मीरियों का विश्वास जीतने के लिए कर रही है. सरकार ने कश्मीरियों की मदद के लिए काफी इंतजाम किए हैं. जानें क्या हैं वो इंतजाम-

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद सरकार द्वारा माहौल शांत बताया जा रहा है. हालांकि सरकार के इस दावे की असली परीक्षा कल यानी ईद-उल-अजहा के दिन होगी. कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के बाद सरकार इस मौके का इस्तेमाल कश्मीरियों का विश्वास जीतने के लिए कर रही है. सरकार ने कश्मीरियों की मदद के लिए काफी इंतजाम किए हैं. जानें क्या हैं वो इंतजाम-

  • जम्मू कश्मीर प्रशासन ने कश्मीरी लोगों के लिए 300 स्पेशल टेलीफोन बूथ बनाए हैं. ताकि देशभर में रह रहे कश्मीरी छात्र और रिश्तेदार ईद-उल-अजहा के मौके पर अपने परिजनों से संपर्क कर सकें.
  • CRPF ने लोगों को किसी भी प्रकार की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर शेयर किया है. श्रीनगर स्थित मददगार हेल्पलाइन ने 9469793260 नंबर जारी किया है.
  • प्रशासन ने कश्मीरियों के लिए रोजमर्रा के जरूरी सामानों का भंडारण किया है. कश्मीर में प्रशासन ने 3,697 में से 3,557 राशन स्टोर को भी चालू कर दिया है.
  • राशन स्टोर से सब्जियां, एलपीजी, चिकन और अंडे मोबाइल बैन के जरिए लोगों के घरों तक पहुंचाए जा रहे है.
  • प्रशासन के मुताबिक सरकार के पास करीब 65 दिन चलने भर का गेहूं, 55 दिन चलने भर का चावल, 17 दिन तक का मटन, 1 महीने भर का चिकन, 35 दिन का केरोसिन ऑइल, 1 महीने की एलपीजी और 28 दिन का पेट्रोल-डीजल है.’
  • बकरीद पर कुर्बानी के लिए 2 लाख 50 हजार भेड़-बकरे भी उपलब्ध कराई गई हैं.
  • प्रशासन ने छुट्टी के दिन बैंक और एटीएम चालू रखने का फैसला लिया है. जम्मू-कश्मीर के कर्मचारियों का वेतन भी जारी किया गया जा रहा है.
  • हर महत्वपूर्ण जगहों पर मैजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है, जिससे आम जनता को सहजता हो.

ये भी पढ़ें: सड़क के बीचों-बीच केजरीवाल सरकार के मंत्री सतेंद्र जैन को लोगों ने बनाया बंधक