दिल्ली चुनाव: बिरयानी वाले बयान पर EC सख्त, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ को भेजा नोटिस

दिल्ली विधानसभा चुनाव में शाहीन बाग का मुद्दा गरम रहा. नागरिकता संशोधन के खिलाफ शाहीन बाग में पिछले 15 दिसंबर से धरना प्रदर्शन चल रहा है. इसी प्रदर्शन को लेकर योगी आदित्यनाथ ने पूरे चुनाव प्रचार के दौरान आम आदमी पार्टी और दूसरे विरोधी दलों पर तीखे हमले बोले थे.
Election Commission issues yogi aaditynath, दिल्ली चुनाव: बिरयानी वाले बयान पर EC सख्त, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ को भेजा नोटिस

चुनाव आयोग( Election Commission) ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. आयोग ने इसे चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन माना है और उनसे शुक्रवार शाम पांच बजे तक जवाब मांगा है. दरअसल, योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली में चुनाव प्रचार के दौरान करावल नगर में कहा था, ‘केजरीवाल शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को बिरयानी खिला रहे हैं.’

दिल्ली विधानसभा चुनाव में शाहीन बाग का मुद्दा गरम रहा. नागरिकता संशोधन के खिलाफ शाहीन बाग में पिछले 15 दिसंबर से धरना प्रदर्शन चल रहा है. इसी प्रदर्शन को लेकर योगी आदित्यनाथ ने पूरे चुनाव प्रचार के दौरान आम आदमी पार्टी और दूसरे विरोधी दलों पर तीखे हमले बोले थे.

उन्होंने आरोप लगाया था कि जो लोग कश्मीर में आतंकवादियों का समर्थन करते हैं, वे शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे हैं और ‘आजादी’ के नारे लगा रहे हैं. योगी ने कहा था कि अरविंद केजरीवाल सरकार लोगों को साफ पानी नहीं उपलब्ध करा पा रही है लेकिन शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों को ‘बिरयानी बांट रही’ है.

पूर्वी दिल्ली में करावल नगर चौक पर रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी नेता ने संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) विरोधी प्रदर्शनकारियों पर निशाना साधते हुए कहा, ‘उनके (प्रदर्शनकारियों) पूर्वजों ने भारत को बांटा, इसलिए उन्हें इस उभरते ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ से दिक्कत है.’ उन्होंने यह भी कहा था कि जब से नरेंद्र मोदी सत्ता में आए हैं आतंकवादी बिरयानी नहीं गोली खा रहे हैं.

इससे पहले चुनाव आयोग प्रवेश सिंह वर्मा और अनुराग ठाकुर के खिलाफ कार्रवाई कर चुका है. सांसद प्रवेश सिंह वर्मा पर तो आयोग ने दोबारा कार्रवाई करते हुए उन पर 24 घंटे का चुनाव प्रचार का बैन लगा दिया था. इनके बाद योगी आदित्यनाथ बीजेपी के तीसरे बड़े नेता हैं, जिनके खिलाफ EC ने नोटिस जारी किया या चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध लगाया. आम आदमी पार्टी में भी अरविंद केजरीवाल, संजय सिंह आचार संहिता के उल्लंघन में फंस चुके हैं.

Related Posts