एक और IIT स्टूडेंट ने की खुदकुशी, डिप्रेसन की वजह से गंवाई जान

स्टूडेंट ने आत्महत्या करने से पहले अपने कुछ दोस्तों को ई-मेल किया था जिसमें उसने लिखा कि उसे ये जिंदगी रास नहीं आ रही और दुनिया को उसकी मौत से कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

डिप्रेसन के चलते भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT)- हैदराबाद के बीटेक स्टूडेंट ने कैंपस के हॉस्टल में खुदकुशी कर ली. 20 वर्षीय छात्र पिचिकला सिद्धार्थ ने कैंपस के हॉस्टल की बिल्डिंग से कूद कर आत्महत्या कर ली.

इस मामले की तहकीकात में जुटी पुलिस के मुताबिक IIT स्टूडेंट के आत्महत्या करने का ये तीसरा मामला है. सिद्धार्थ कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग ब्रांच का स्टूडेंट था, उसने सुबह करीब साढ़े तीन बजे हॉस्टल की बिल्डिंग के तीसरे माले से छलांग लगा दी.

IIT Hyderabad engineering student committed suicide, एक और IIT स्टूडेंट ने की खुदकुशी, डिप्रेसन की वजह से गंवाई जान

संगारेड्डी जिले के पुलिस उपाधीक्षक पी श्रीधर रेड्डी ने बताया कि हॉस्टल के कुछ स्टूडेंट्स और गार्ड ने मिलकर सिद्धार्थ को एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया. बाद में उसे एक कॉर्पोरेट हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया जहां उसने दम तोड़ दिया.

IIT Hyderabad engineering student committed suicide, एक और IIT स्टूडेंट ने की खुदकुशी, डिप्रेसन की वजह से गंवाई जान

सिद्धार्थ ने आत्महत्या करने से पहले अपने कुछ दोस्तों को ई-मेल किया था जिसमें उसने लिखा कि उसे ये जिंदगी रास नहीं आ रही और दुनिया को उसकी मौत से कोई फर्क नहीं पड़ेगा. सिद्धार्थ ने सुसाइड नोट में लिखा, ‘जीवन निराशाजनक लगता है. मैं मानसिक रूप से अपने दुर्भाग्य को बर्दाश्त नहीं कर पा रहा हूं. मुझे कुछ नहीं पता कि मेरा भविष्य कैसा होगा. मैं पिछले दो महीनों से ऐसा महसूस कर रहा हूं.’

सिद्धार्थ की मौत पर संस्थान ने दुख जाहिर किया है. एक विज्ञप्ति में संस्थान ने कहा, IIT हैदराबाद संस्थान, स्टाफ और स्टूडेंट्स मृतक के करीबियों के प्रति संवेदना प्रकट करता है. भगवान उसकी आत्मा को शांति दे.

इससे पहले भी IIT हैदराबाद के MTech फाइनल इयर स्टूडेंट ने जुलाई 2019 को आत्महत्या कर ली थी. स्टूडेंट ने सुसाइड नोट में नौकरी न मिलने को खुदकुशी की वजह बताया था.