मीडिया रिपोर्ट में हुआ भाई-बहन की हत्या का जिक्र तो बेन स्टोक्स ने कहा- इस हादसे को भूलने में वर्षों लगे

अखबार ने अपनी रिपोर्ट में हत्यारे की 49 वर्षीय बेटी जैकी डन के हवाले से लिखा- अप्रैल 1988 में स्टोक्स के जन्म से पहले उनकी आठ वर्षीय सौतेली बहन ट्रेसी और चार वर्षीय सौतेले भाई एंड्रयू की दुर्दांत तरीके से हत्या कर दी गई थी.

नई दिल्ली: इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने सोशल मीडिया में भावुक पोस्ट किया है. इस पोस्ट में उन्होंने ब्रिटिश अखबार की उस रिपोर्ट पर हमला बोला है, जिसमें दावा किया गया था कि 30 वर्ष पहले उनकी मां के पूर्व पति ने स्टोक्स के सौतेले भाई और बहन की हत्या कर दी थी.

स्टोक्स ने लिखा, अपने रिपोर्टर को मेरे घर, न्यूजीलैंड में भेजकर उसे कुरेदने का काम किया गया है. मेरे नाम का इस्तेमाल करने से मेरी निजता और साथ ही मेरे माता-पिता की निजता पर हमला किया गया जो काफी गलत है. मैं किसी को यह हक नहीं देता हूं कि मेरी प्रोफाइल से मेरे माता-पिता, पत्नी और मेरे बच्चों के अलावा मेरे पारिवारिक सदस्यों की निजता पर हमला किया जाए. उन्होंने साथ ही लिखा कि यह पत्रकारिता का सबसे खराब रूप है जो सिर्फ बेचने पर आधारित है, किसी की जिंदगी से नहीं. यह काफी गलत है.

अखबार ने अपनी रिपोर्ट में हत्यारे की 49 वर्षीय बेटी जैकी डन के हवाले से लिखा- अप्रैल 1988 में स्टोक्स के जन्म से पहले उनकी आठ वर्षीय सौतेली बहन ट्रेसी और चार वर्षीय सौतेले भाई एंड्रयू की दुर्दांत तरीके से हत्या कर दी गई थी. इस वारदात को अंजाम दिया था रिचर्ड डन ने जोकि बेन स्टोक्स की मां के पूर्व पति है.


रिपोर्ट के मुताबिक, दोस्तों ने कहा कि देब को काफी दुख हुआ जब उन्हें पता लगा कि एक बेरोजगार व्यक्ति डन ने उनके बच्चों की हत्या कर दी. इतना ही नहीं, डन अपनी उसी राइफल के साथ अपने घर गया जिससे उसने बच्चों की हत्या क्राइस्टचर्च के एक फ्लैट में की थी. पिछले महीने ही स्टोक्स ने एशेज सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में अपनी टीम को अप्रत्याशित जीत दिलाई थी.

 

Related Posts