हुड्डा परिवार की बहू ने रचा इतिहास, बनीं घुड़सवारी में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला

श्वेता हुड्डा बड़े राजनीतिक घराने से संबंध रखती हैं. उनको बचपन से ही घुड़सवारी पसंद है और उनके पास अपना घोड़ा भी है, जिसका वह खुद ख्याल रखती हैं. उल्लेखनीय है कि स्पोर्ट्स में अपनी रुचि रखने वाली श्वेता पानी की समस्या पर भी अध्यन कर चुकी हैं. इसके अलावा उन्हें रिटेल बिजनस की भी महारथ हासिल है.

नई दिल्ली: हरियाणा की राजनीति में खासा दबदबा रखने वाले पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupendra Singh Hooda) की पुत्रवधू ने खेल की दुनिया में नया मुकाम हासिल किया है. उन्होंने विश्व घुड़सवारी चैंपियनशिप(World Equestrian Championship) में गोल्ड मेडल (Gold Medal) अपने नाम किया है.

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा (Bhupendra Singh Hooda) की पुत्रवधू और पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा (Deependra Hooda) की वाइफ श्वेता हुड्डा (Shweta hooda) ने विश्व घुडसवारी चैंपियनशिप(World Equestrian Championship) ) का गोल्ड मेडल अपने नाम किया. उन्होंने चैंपियनशिप में 62.426 पॉइंट अर्जित किए और इस टूर्नामेंट में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनने का गौरव हासिल किया. इस सम्मानित टूर्नमेंट में कुल 50 देशों के घुड़सवारों ने हिस्सा लिया था.

एफईआई की ओर से आयोजित प्रतियोगिता श्वेता ने अपने प्रतिद्वंद्वी एमएस राठौर (62.353) को 73 अंकों से हराया. ऐतिहासिक प्रदर्शन के बाद श्वेता हुड्डा ने कहा, ‘महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं. अगर उन्हें मौका मिले तो वह किसी भी क्षेत्र में अपनी पहचान बना सकती हैं.’

श्वेता हुड्डा जैसे बड़े राजनीतिक घराने से संबंध रखती हैं. उनको बचपन से ही घुड़सवारी पसंद है और उनके पास अपना घोड़ा भी है, जिसका वह खुद ख्याल रखती हैं. उल्लेखनीय है कि स्पोर्ट्स में अपनी रुचि रखने वाली श्वेता पानी की समस्या पर भी अध्यन कर चुकी हैं. इसके अलावा उन्हें रिटेल बिजनस की भी महारथ हासिल है.