commissioner rakesh maria book, जब राकेश मारिया ने कसाब से कहा, “झुक जाओ, सिर जमीन से लगाओ और कहो भारत माता की जय!”
commissioner rakesh maria book, जब राकेश मारिया ने कसाब से कहा, “झुक जाओ, सिर जमीन से लगाओ और कहो भारत माता की जय!”

जब राकेश मारिया ने कसाब से कहा, “झुक जाओ, सिर जमीन से लगाओ और कहो भारत माता की जय!”

राकेश मारिया ने अपनी किताब में बताया है कि कैसे उन्होंने आतंकवादी अजमल कसाब को साथियों की लाश दिखाकर उसके हौसलों को पस्त कर दिया था.
commissioner rakesh maria book, जब राकेश मारिया ने कसाब से कहा, “झुक जाओ, सिर जमीन से लगाओ और कहो भारत माता की जय!”

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया ने 26/11 के आतंकी हमले में पकड़े गए एकमात्र आतंकवादी अजमल आमिर कसाब से पूछताछ के दौरान के कई किस्से अपनी किताब ‘लेट मी से इट नाउ’ में लिखे हैं. राकेश मारिया ने अपनी किताब में जिक्र किया है कि, कैसे उनके समझाने पर कसाब अमेरिकी क्राइम ब्रांच की टीम के जवाब देने के लिए राजी हुआ.

राकेश मारिया ने लिखा है कि, ‘जब 26/11 हमले की घटना के दो हफ्ते के भीतर ही अमेरिकी FBI की क्राइम ब्रांच टीम आयी और इस मामले की जांच से जुड़ी सभी जानकारी मांगते हुए कसाब से सवाल जवाब करना चाहा, तब कसाब ने FBI टीम का सहयोग नहीं किया और लगभग एक घंटे की पूछताछ के बाद सभी अधिकारी झल्ला कर बाहर आ गए. उन्होंने बताया कि कसाब उनके सवालों के जवाब देने के बदले उल्टे अमेरिका को ही भला बुरा कह रहा है. इसके बाद राकेश मारिया ने कसाब को समझाया और सहयोग देने की बात कही जिसके बाद वो राजी हो गया.’

एक बार देर रात कसाब 26/11 हमले से जुड़ी कई अहम जानकारी दे रहा था तब राकेश मारिया ने उससे पूछा कि आखिर ये सब कर के उसे क्या मिलता है? वो ऐसा कैसे कर सकता है और क्यों करता है? लोगों को मारकर, बच्चों को अनाथ बनाकर उसे क्या मिलता है? इस पर कसाब ने जवाब दिया कि जनाब (कसाब राकेश मारिया के लिए इसी शब्द का प्रयोग करता था), आप नहीं समझोगे. हमारे उस्तादों ने कहा है कि जब हम जिहाद में मरते हैं तो हमारा शरीर चमकता है और बदन से खुशबू आती है. राकेश मारिया कसाब की बातों को सुनते रहे.

फिर इस मामले की जांच के तीसरे हफ्ते में अचानक एक रात लगभग 3.30 बजे पूछताछ के दौरान मारिया ने कुछ तय किया था. वो कसाब को दूसरे पुलिस अधिकारियों के साथ आधी रात को जेजे अस्पताल के मुर्दाघर ले गए. जहां कसाब के 9 साथी फ्रीजर में रखे थे. कसाब को ये दिखाते हुए मारिया ने कहा कि देखो ये हैं तुम्हारे जिहादी दोस्त जो जन्नत में है.

कसाब उनके शवों को देखकर टूट गया. किसी को आतंकवादी के आंख में गोली लगी थी तो किसी का शरीर पूरी तरह से जल गया था. ये सब देखकर सदमे में चला गया. इसके बाद कसाब को वापस ले जाने की बारी आई. वापसी के दौरान सुबह 4.30 बज गए थे. रास्ते मे मेट्रो जंक्शन के पास मारिया ने कॉन्वॉय को रुकवाया और गाड़ी से उतरे. ये जगह उन जगहों में से एक थी जहां कई लोगों ने उस हमले में अपनी जान गंवाई थी.

मारिया ने कसाब को भी गाड़ी से नीचे उतरवाया. फिर आतंकवादी अजमल कसाब से कहा, ‘नीचे झुको और जमीन को अपने माथे से छुओ’. मारिया के कहे मुताबिक कसाब झुक गया. मारिया ने आगे कहा, ‘अब कहो, भारत माता की जय !’ कसाब ने कहा, ‘भारत माता की जय!’ मारिया की किताब के मुताबिक वो कसाब से एक बार भारत माता की जय बुलवाकर संतुष्ट नहीं हुए और कसाब को दुबारा भारत माता की जय कहने को कहा.

commissioner rakesh maria book, जब राकेश मारिया ने कसाब से कहा, “झुक जाओ, सिर जमीन से लगाओ और कहो भारत माता की जय!”
commissioner rakesh maria book, जब राकेश मारिया ने कसाब से कहा, “झुक जाओ, सिर जमीन से लगाओ और कहो भारत माता की जय!”

Related Posts

commissioner rakesh maria book, जब राकेश मारिया ने कसाब से कहा, “झुक जाओ, सिर जमीन से लगाओ और कहो भारत माता की जय!”
commissioner rakesh maria book, जब राकेश मारिया ने कसाब से कहा, “झुक जाओ, सिर जमीन से लगाओ और कहो भारत माता की जय!”