Exclusive: कांग्रेस में बदलाव के पीछे राहुल गांधी, पार्टी के अंदर धीरे-धीरे जारी जनरेशन शिफ्ट

कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेताओं के मुताबिक, आने वाले दिनों में AICC से लेकर राज्यों के बूथ लेवल तक खासतौर पर असम, उत्तराखंड, ओडिशा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में भी बदलाव देखने को मिलेगा.
Rahul Gandhi behind changes in Congress, Exclusive: कांग्रेस में बदलाव के पीछे राहुल गांधी, पार्टी के अंदर धीरे-धीरे जारी जनरेशन शिफ्ट

कांग्रेस (Congress) पार्टी में जो बदलाव हो रहे हैं उसमें पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की छाप साफ नजर आ रही है. राज्य स्तर पर कांग्रेस में बदलाव जारी हैं. पार्टी के अंदर धीरे-धीरे ही सही, लेकिन जनरेशन शिफ्ट जारी है. कांग्रेस ने गुजरात में 26 साल के हार्दिक पटेल (Hardik Patel) को पार्टी का राज्य में वर्किंग प्रेसिडेंट बनाया है. इस बदलाव में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की छाप साफ नजर आती है और कहीं ना कहीं एक संदेश पूरे संगठन को दिया.

जमीन पर जिसका जोर है उसे ही मिलेगी जिम्मेदारी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के मुताबिक, राहुल गांधी ने साफ कर दिया है कि पार्टी का बस एक ही मंत्र होगा कि “जमीन पर जिसका जोर है, पार्टी के प्रति निष्ठावान है और संगठन को मजबूत कर रहे हैं. उन्हीं नेताओं/कार्यकर्ताओं को अब संगठन में बड़ी जिम्मेदारियां मिलेगी.” चाहे फिर कर्नाटक में डीके शिवकुमार हो, यूपी में अजय कुमार लल्लू हो, दिल्ली में अनिल चौधरी हो या यूथ कांग्रेस की कमान संभालने वाले श्रीनिवासन.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के मुताबिक, “यह सब जमीन से जुड़े हुए नेता हैं. पार्टी की विचारधार के प्रति निष्ठावान हैं और संगठन को मजबूत करने के साथ-साथ लोगों की लड़ाई जमीनी स्तर पर लड़ रहे हैं.” पार्टी के वरिष्ठ नेता राज्यसभा चुनाव की ओर भी इशारा करते हैं. हाल ही में कांग्रेस पार्टी ने राज्यसभा में 45 साल से कम उम्र के नेताओं को भेजा है.

Rahul Gandhi behind changes in Congress, Exclusive: कांग्रेस में बदलाव के पीछे राहुल गांधी, पार्टी के अंदर धीरे-धीरे जारी जनरेशन शिफ्ट

कांग्रेस में बदलाव, राहुल की छाप

कांग्रेस पार्टी के सूत्रों के मुताबिक, संगठन में जितने बदलाव हो रहे हैं उन सब में राहुल गांधी की छाप है. पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के मुताबिक राहुल गांधी ज्यादा से ज्यादा युवाओं को और खासतौर से उन नेताओं और कार्यकर्ताओं को ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी (AICC) में ज्यादा जिम्मेदारी देना चाहते हैं जो जमीनी तौर पर काम कर रहे हैं.

गुजरात में हार्दिक पटेल को कार्यकारी अध्यक्ष बनाना तो महज शुरुआत है. पार्टी आने वाले दिनों में पूरे के पूरे गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी को रिवैंप करने जा रही है. AICC के गुजरात इंचार्ज राजीव सातव ने TV9 भारतवर्ष से बात करते हुए कहा, “हार्दिक को यह जिम्मेदारी देना तो पहला कदम है. आने वाले दिनों में हम गुजरात कांग्रेस में भारी बदलाव करने जा रहे हैं. सीनियर और युवा नेताओं की मिली-जुली नई टीम आपको जल्द नजर आएगी.”

गुजरात महत शुरुआत, अब हर राज्य इकाई में होगा बदलाव

पार्टी के सूत्रों के मुताबिक, गुजरात तो महज़ शुरुआत है. धीरे-धीरे पार्टी की अन्य राज्यों की इकाइयों में भी भारी भरकम बदलाव देखने को मिलेगा, जिसकी शुरुआत कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में हो चुकी है. गुजरात के साथ-साथ मणिपुर के संगठन में भी कांग्रेस ने बदलाव किया है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के मुताबिक, आने वाले दिनों में AICC से लेकर राज्यों के बूथ लेवल तक खासतौर पर असम, उत्तराखंड, ओडिशा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में भी बदलाव देखने को मिलेगा. वहीं दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की कमान इसी साल अनिल चौधरी को दी गई. हाल ही में अनिल चौधरी ने दिल्ली कांग्रेस के पूर्व नेताओं एवं संगठन के अन्य लोगों के साथ मीटिंग का सिलसिला शुरू कर दिया है.

Rahul Gandhi behind changes in Congress, Exclusive: कांग्रेस में बदलाव के पीछे राहुल गांधी, पार्टी के अंदर धीरे-धीरे जारी जनरेशन शिफ्ट

दिल्ली में भी जमीनी स्तर पर काम करने वालों को जिम्मेदारी

सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी में भी आने वाले दिनों में भारी-भरकम बदलाव देखने को मिलेगा. अनिल चौधरी ने कहा, “राहुल गांधी जी का निर्देश है कि संगठन में जिम्मेदारियां उन्हीं को दी जाएं जो जमीनी तौर पर काम कर रहे हैं. अभी हाल में करोना महामारी के दौरान जिन लोगों ने आगे बढ़कर फ्रंटलाइन लेवल पर पार्टी का काम किया है और इसके साथ-साथ जो ग्रास रूट लेवल पर चाहे बूथ स्तर पर, चाहे जिला स्तर पर काम कर रहे हैं, पार्टी को मजबूत कर रहे हैं, उनको संगठन में ज्यादा महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां दी जाएंगी.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी में बूथ लेवल से लेकर प्रदेश स्तर पर भारी भरकम बदलाव आने वाले दिनों में देखने को मिलेंगे. सूत्रों के मुताबिक, पार्टी के संगठन यूथ कांग्रेस, महिला कांग्रेस, एनएसयूआई और सेवा दल से रेगुलर फीडबैक लिया जा रहा है ताकि ये पता चल सके कि कौन से ऐसे लोग हैं जो जमीनी तौर पर अच्छा काम कर रहे हैं. खासतौर पर जिन्होंने कोरोना महामारी के दौरान बढ़-चढ़कर काम किया है.

कांग्रेस नेताओं की मांग- फिर से पार्टी की कमान संभालें राहुल

यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवासन ने बताया की आने वाले दिनों में ज्यादा से ज्यादा युवाओं को संगठन में जिम्मेदारियां दी जाएंगी.  कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता यह भी कहते हैं कि बहुत से ऐसे राज्य हैं जहां पर जल्द ही नए प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त होंगे.

दरअसल, हाल ही में कांग्रेस में यह मांग उठी कि राहुल गांधी एक बार फिर से कांग्रेस के अध्यक्ष पद की कमान संभालें.  राहुल पहले ही साफ कर चुके हैं कि संगठन में जमीनी स्तर से लेकर एआईसीसी के सीडब्ल्यूसी लेवल तक संगठन को पूर्ण रूप से रिस्ट्रक्चर, रीऑर्गेनाइज और रिवैंप किया जाए. पार्टी के कई वरिष्ठ नेता भी यह क्या चुके हैं की संगठन में बदलाव हो और उसके साथ-साथ राहुल गांधी कांग्रेस का एक बार फिर से नेतृत्व करें.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts