Budget 2020: महिला वित्त मंत्री होने पर कुछ यूं बढ़ीं देश की महिलाओं की उम्मीदें

इस बार के बजट में महिलाओं को अपने किचन के सस्ता होने की पूरी उम्मीद है. बजट से महिलाएं चाहती हैं कि उनके घर का खर्च आराम से चले. दाल, चावल, गेहूं, फल, चीनी, सब्जी, तेल जैसी रोजाना के इस्तेमाल होने वाली चीजों पर कम पैसे खर्च करने पड़ें.
women expectations on budget, Budget 2020: महिला वित्त मंत्री होने पर कुछ यूं बढ़ीं देश की महिलाओं की उम्मीदें

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का दूसरा बजट वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को पेश करेंगी. इस बजट से हर वर्ग के लोगों को उम्मीद है लेकिन सबसे ज्यादा आस घर की गृहणी लगाएं बैठी हैं. यूं तो बीते कुछ महीनों में महंगाई अपने चरम पर है. आंकड़े बताते हैं कि दिसंबर 2019 में खुदरा महंगाई दर बढ़कर 7.35 फीसदी हो गई है, जबकि नवंबर में खुदरा महंगाई दर 5.54 फीसदी थी. जुलाई 2016 के बाद दिसंबर 2019 पहला महीना है, जब महंगाई दर रिजर्व बैंक की सुविधाजनक सीमा 2-6 फीसदी को पार कर गई है. इस वजह से सब्‍जियों से लेकर रोजमर्रा की चीजें तक महंगी हो गई हैं और महिलाओं के लिए घर के बजट को काबू में रख पाना मुश्किल होता जा रहा है.

इस बार के बजट में महिलाओं को अपने किचन के सस्ता होने की पूरी उम्मीद है. बजट से महिलाएं चाहती हैं कि उनके घर का खर्च आराम से चले. इसमें दाल, चावल, गेहूं, फल,      चीनी, सब्जी, तेल जैसी रोजाना के इस्तेमाल होने वाली चीजों पर कम पैसे  खर्च करने पड़ें.

  • मौजूदा समय में प्याजलहसुन के दाम बहुत बढ़े हैं. महिलाओं के साथ आम आदमी को भी उम्मीद है कि सरकार इसे लेकर भी आम बजट में कुछ राहत देगी. 
  • इसके अलावा महिला सुरक्षा सबसे अहम मुद्दा है. महिलाओं की शिकायत रहती है कि सरकार बजट में घोषणाएं तो करती है लेकिन उसे धरातल पर नहीं उतारा जाता. 
  • कामकाजी महिलाओं, लड़कियां के लिए कुछ विशेष प्रावधान हो. महिलाएं चाहती हैं कि महिला सशक्तिकरण और शिक्षा पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है. 
  • ऐसा प्रयास होना चाहिए कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्र की हुनरमंद महिलाओं को ई-चौपाल या ई-नेट के माध्यम से और सशक्त किया जा सके. 
  • बजट में महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाए गए निर्भया फंड को ठीक ढंग से लागू किया जाना चाहिए.  इसके साथ ही घरेलू महिलाओं की आय को टैक्स के दायरे से बाहर रखा जाना चाहिए. 
  • साथ ही म्यूचुअल फंड्सबीमा ,एफडी में महिलाओं को प्राथमिकता मिले.

ये भी पढ़ें- ओवैसी का ठाकुर को चैलेंज- जगह बताओ… आने के लिए तैयार, मौत अल्‍लाह की मर्जी से होगी

 

Related Posts