Republic Day 2020 : इन चुनिंदा शायरियों से बताएं आपको हिन्‍द पर है कितना नाज़

आजकल सोशल मीडिया के जरिए लोगों को शुभकामना संदेश भेजते हैं. आइए आपको कुछ मशहूर शायरों की शायरियाँ बताते हैं जो आप गणतंत्र दिवस के मौके पर शुभकामना संदेश के रूप में भेज सकते हैं.

गणतंत्र दिवस पर हम लोकतांत्रिक देश में रहने की खुशी मनाते है. इस राष्टीय त्यौहार को मनाने के साथ साथ हम चाहते हैं कि जितना हो सके कि लोगों को हिंदुस्तान और संविधान के महत्व को भी समझाएं. आजकल सोशल मीडिया के जरिए लोगों को शुभकामना संदेश भेजते हैं. कुछ मशहूर शायरों की शायरियां बताते हैं जो आप गणतंत्र दिवस के मौके पर शुभकामना संदेश के रूप में भेज सकते हैं.

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है
-बिस्मिल अज़ीमाबादी

ये है मेरा हिन्दोस्तान
मेरे सपनों का जहान
इस से प्यार है मुझ को
ज़ुबैर रिज़वी

हम अम्न चाहते हैं मगर ज़ुल्म के ख़िलाफ़
गर जंग लाज़मी है तो फिर जंग ही सही
साहिर लुधियानवी

रौशन है कामयाब है छब्बीस जनवरी
खिलता हुआ गुलाब है छब्बीस जनवरी
-शौकत परदेसी

दिल से निकलेगी न मर कर भी वतन की उल्फ़त
मेरी मिट्टी से भी ख़ुशबू-ए-वफ़ा आएगी
-लाल चन्द फ़लक

भारत के ऐ सपूतो हिम्मत दिखाए जाओ
दुनिया के दिल पे अपना सिक्का बिठाए जाओ
-लाल चन्द फ़लक

लहू वतन के शहीदों का रंग लाया है
उछल रहा है ज़माने में नाम-ए-आज़ादी
-फ़िराक़ गोरखपुरी

इसी जगह इसी दिन तो हुआ था ये एलान
अँधेरे हार गए ज़िंदाबाद हिन्दोस्तान
-जावेद अख़्तर

वतन की ख़ाक ज़रा एड़ियाँ रगड़ने दे
मुझे यक़ीन है पानी यहीं से निकलेगा
अज्ञात

दिलों में हुब्ब-ए-वतन है अगर तो एक रहो
निखारना ये चमन है अगर तो एक रहो
-जाफ़र मलीहाबादी

वतन के जाँ-निसार हैं वतन के काम आएँगे
हम इस ज़मीं को एक रोज़ आसमाँ बनाएँगे
-जाफ़र मलीहाबादी

उस मुल्क की सरहद को कोई छू नहीं सकता
जिस मुल्क की सरहद की निगहबान हैं आँखें
– अज्ञात

दुख में सुख में हर हालत में भारत दिल का सहारा है
भारत प्यारा देश हमारा सब देशों से प्यारा है
– अफ़सर मेरठी

हम भी तिरे बेटे हैं ज़रा देख हमें भी
ऐ ख़ाक-ए-वतन तुझ से शिकायत नहीं करते
– खुर्शीद अकबर

ये भी पढ़ें

क्‍यों मनाते हैं गणतंत्र दिवस? जानिए पहली बार कहां हुई थी परेड

Related Posts