6300 रुपए लूटने के लिए नाबालिग ने की थी रक्षा मंत्रालय में जॉइंट डायरेक्‍टर के पिता की हत्या

घटना वाले दिन आरोपी दिन के वक्त राजेंद्र शर्मा के पास गया. तब राजेन्द्र शर्मा ने अपनी जेब (Pocket) में रखे 6,350 रुपयों में से 50 रुपये देकर आरोपी को दुकान (Shop) से सामान (Goods) लाने भेज दिया.

स्थानीय पुलिस ने सोमवार को रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defense) के एक संयुक्त निदेशक के पिता की हत्या के कारणों का खुलासा करने का दावा किया है. इस सिलसिले में पुलिस ने एक नाबालिग (Minor) को पकड़ा है. आरोपी को फिलहाल अग्रिम आदेशों तक के लिए बाल सुधार गृह भेज दिया गया है.

ग्रेटर नोएडा DCP राजेश कुमार सिंह के मुताबिक, आरोपी ने 75 वर्षीय बुजुर्ग राजेंद्र शर्मा की हत्या की. हत्या की रात वह ट्यूबवैल पर सो रहे थे. राजेंद्र शर्मा किसान थे. छानबीन में पता चला कि हत्या की वारदात को तब अंजाम दिया गया, जब नाबालिग शिकारी जंगल में तीतर के शिकार के लिए गया था. उसी वक्त उसे वृद्ध राजेंद्र शर्मा अकेले दिखाई दिए.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

मात्र 6,300 रुपये लूटने के लिए की थी हत्या

पुलिस के मुताबिक, हत्या की घटना तीन दिन पहले ईसेपुर गांव में हुई थी. राजेंद्र शर्मा की हत्या चाकू से की गयी थी. पकड़े जाने पर लुटेरे ने यह कबूल किया कि उसने 63 सौ रुपये लूटने के लिए इस वारदात को अंजाम दिया था. इस बारे में राजेंद्र शर्मा के पुत्र राकेश शर्मा ने मामला दर्ज कराया था. राकेश शर्मा रक्षा मंत्रालय में संयुक्त निदेशक हैं.

अक्सर मिला करता था राजेंद्र शर्मा से

पुलिस के मुताबिक, पकड़ा गया आरोपी सिकंदराबाद (Secunderabad) का रहने वाला है. आरोपी ने कबूला है कि वह अक्सर राजेंद्र शर्मा के ट्यूबवैल के आसपास तीतर का शिकार करने जाता था. इससे राजेंद्र शर्मा से उसकी जान-पहचान हो गयी थी. घटना वाले दिन आरोपी दिन के वक्त राजेंद्र शर्मा के पास गया. तब राजेन्द्र शर्मा ने अपनी जेब में रखे 6,350 रुपयों में से 50 रुपये देकर आरोपी को दुकान से सामान लाने भेज दिया. उसी वक्त आरोपी के मन में लूट को अंजाम देने की खुराफात पैदा हो गयी.

परिजनों को पुलिस के किए खुलासे पर है शक

रात के वक्त आरोपी दुबारा वहां गया, जहां राजेंद्र शर्मा सो रहे थे. उसने ईंट और चाकू से हमला करके राजेंद्र शर्मा की हत्या कर दी. उसके बाद वह उनकी जेब में रखे रुपये लेकर भाग गया. हालांकि, पुलिस द्वारा किये गये इस खुलासे पर राजेंद्र शर्मा के परिजनों को शक है. उनका कहना है कि पुलिस ने नाबालिग को सामने करके उनके पिता के असली मुजरिमों को बचा लिया है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts