“मुझे दुर्गा पूजा कार्निवल में अपमानित किया गया,” पश्चिम बंगाल गवर्नर ने TMC पर लगाए आरोप

सत्तारूढ़ TMC ने भी जवाब देने में देरी नहीं की और गवर्नर के आरोप पर पलटवार करते हुए उनपर पर "प्रचार का भूखा" होने का आरोप लगाया.

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मंगलवार को कहा कि उन्हें कोलकाता में दुर्गा पूजा कार्निवाल में अपमानित महसूस हुआ. हालांकि उन्होंने ये भी साफ कहा कि इससे वह पश्चिम बंगाल के लोगों के सेवक होने के नाते उन्हें अपने संवैधानिक कर्तव्यों का निर्वहन करने से रोक भी नहीं सकता है. धनकड़ ने दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) सरकार द्वारा आयोजित कार्यक्रम में उन्हें “पूरी तरह से नकार दिया गया था.”

वहीं सत्तारूढ़ TMC ने भी जवाब देने में देरी नहीं की और गवर्नर के आरोप पर पलटवार करते हुए उनपर पर “प्रचार का भूखा” होने का आरोप लगाया. इसी के साथ TMC ने कहा कि जिस तरह से एक राज्यपाल को काम करना चाहिए वो (धनकड़) वैसे काम नहीं कर रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक धनकड़ शुक्रवार को हुए कार्यक्रम में सीटिंग की व्यवस्था को लेकर नाराज थे.

सूत्रों का कहना है कि गवर्नर को जिस जगह पर बैठाया गया था वो वहां से कार्यक्रम को सही तरीके से नहीं देख पा रहे थे. गवर्नर ने कहा, “कार्निवल में मैंने खुद को अपमानित महसूस किया. इससे मैं काफी आहत और दुखी हूं. यह सिर्फ मेरा नहीं है, बल्कि बंगाल के एक-एक व्यक्ति का अपमान है. वो इस अपमान को कभी भी नहीं भूल पाएंगे.” उन्होंने आगे कहा, “मैं पश्चिम बंगाल के लोगों का सेवक हूं. कोई भी मुझे अपने संवैधानिक कर्तव्यों से नहीं हटा सकता है.”

यह अलग तरह की सेंशरशिप

धनकड़ ने इसे एक अलग तरीके की सेंसरशिप करार दिया. उन्होंने एक अलग कार्यक्रम में कहा, मैं वहां पर चार घंटों तक बिलकुल ब्लैक आउट होकर बैठा रहा. आप मुझे आमंत्रित करने के बाद मुझे कैसे सेंसर कर सकते हैं? किसी ने मुझे कॉल कर के बताया कि ऐसा इमरजेंसी के समय की याद दिलाने के लिए किया गया. मुझे इतना दर्द हुआ कि मुझे तीन दिन लग गए सदमे से बाहर आने के लिए.”

धनकड़ के आरोपों पर हमला करते हुए TMC ने कहा कि वह एक छोटे से मुद्दे को बढ़ा-चढ़ा कर पेश कर रहे हैं. TMC के वरिष्ठ नेता तपस रॉय ने कहा, “वह एक सप्ताह के बाद इस मामले पर बयानबाजी क्यों कर रहे हैं? वह सिर्फ प्रचार के भूखे हैं. वह इस तरह से कार्य कर रहे हैं जो राज्यपाल को शोभा नहीं देता है.”

ये भी पढ़ें: कोर्ट ने ED को दी चिदंबरम से पूछताछ की इजाजत, तिहाड़ जेल में करेंगे सवाल-जवाब