वित्त मंत्रालय ने 12 सीनियर IT अफसरों से मांगा इस्तीफा, भ्रष्टाचार और यौन उत्पीड़न का आरोप

सूत्रों के मुताबिक, रिटायर किए गए इन 12 ऑफिसर्स पर घूस लेने, अपनी सहकर्मी महिलाओं का उत्पीड़न करने, अघोषित संपत्ति को मैनेज करके पैसा लेने जैसे गंभीर आरोप लगे हैं.

नई दिल्ली: वित्त मंत्रालय ने आयकर विभाग के 12 वरिष्ठ अधिकारियों से इस्तीफा मांगकर ‘जबरन’ रिटायर कर दिया है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के मुख्य आयुक्त, प्रधान आयुक्त समेत 12 सीनियर ऑफिर्स को रिटायर किया गया है. इन पर नियम 56 के तहत एक्शन लिया गया है.

ऑफिसर्स पर लगे हैं गंभीर आरोप
सूत्रों के मुताबिक, रिटायर किए गए इन 12 ऑफिसर्स पर घूस लेने, अपनी सहकर्मी महिलाओं का उत्पीड़न करने, अघोषित संपत्ति को मैनेज करके पैसा लेने जैसे गंभीर आरोप लगे हैं. इनके नाम हैं- अशोक अग्रवाल, एसके श्रीवास्तव, होमी राजवंश, बीबी राजेंद्र प्रसाद, अजॉय कुमार सिंह, बी अरुलप्पा, आलोक कुमार मित्रा, चांदर सेन भारती, अंडासु रवींद्र, विवेक बत्रा, स्वेताभ सुमन और राम कुमार भार्गव.

किस पर है क्या आरोप
अशोक अग्रवाल (आईआरएस, 1985), ज्वाइंट कमिश्नर (इनकम टैक्स) पर भ्रष्टाचार और बिजनेसमैन से जबरन वसूली करने का आरोप लगा है. वहीं, एसके श्रीवास्तव (आईआरएस, 1989), कमिश्नर (अपील), नोएडा दो महिला आईआरएस के यौन उत्पीड़न के आरोपी हैं.

कमिश्नर रैंक के अधिकारी होमी राजवंश (आईआरएस, 1985) ने स्वयं और अपने परिवार के सदस्यों के नाम पर 3 करोड़ रुपये की चल और अचल संपत्ति अर्जित की थी. बीबी राजेंद्र प्रसाद ने फेवरेवल अपील पास करने के बदले में अवैध रूप से लाभ कमाया था.

क्या है नियम 56
बता दें कि वित्त मंत्रालय रूल 56 का इस्तेमाल ऐसे अधिकारियों पर किए जाने का प्रावधान है, जो 50 से 55 साल की उम्र के हों और 30 साल का कार्यकाल पूरा कर चुके हैं. सरकार ऐसे अधिकारियों को अनिवार्य रिटायरमेंट दे सकती है. इस कदम से नॉन-फॉर्मिंग सरकारी सेवक को रिटायर करने का मकसद पूरा होता है.

ये भी पढ़ें-

पश्चिम बंगाल के 24 नॉर्थ परगना में बम ब्लास्ट, दो की मौत और चार घायल

जिंदगी की जंग हार गया फतेहवीर, नहीं बचाया जा सका दो साल का मासूम

मैनहट्टन की 51 मंजिला इमारत पर क्रैश हुआ हेलीकॉप्टर, पायलट की हादसे में मौत

Related Posts