‘देश भूल ना पाएगा आपकी शहादत’, पुलवामा हमले की पहली बरसी पर पीएम ने जवानों को दी श्रद्धांजलि

आज पुलवाना अटैक की पहली बरसी पर जिस जगह यह घटना हुई वहीं पर शहीद स्मारक का उद्घाटन किया जाएगा और शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी.

14 फरवरी, 2019 यह भारत के लिए वो काला दिन था, जब देश के 40 वीर जवान आतंकी साजिश का निशाना बन गए और शहीद हो गए. आज ही के दिन जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पाकिस्तान की पनाह में पनप रहे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने सेंट्रल रिसर्व पुलिस फॉर्स (सीआरपीएफ) के काफिले पर हमला कर दिया था.

जैश के जिस आतंकी ने इस नापाक साजिश को अंजाम दिया था, उसका नाम आदिल अहमद उर्फ वकास था. आदिल ने करीब साढे 300 किलोग्राम आईटी विस्फोट से भरी हुई गाड़ी से सीआरपीएफ की बस में जोरदार टक्कर मार दी थी. यह हमला इतना हृदय विदारक था कि इसने देश को थर्रा दिया था.

पाकिस्तान से अपने जवानों की शहादत का बदला लिया गया. भारतीय सेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक की, जिसमें आतंकी ठिकानों और कई आतंकियों को मार गिराने का दावा सरकार ने किया. पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों द्वारा किए गए पुलवामा अटैक को देश कभी भी नहीं भूल सकता.

आज पुलवाना अटैक की पहली बरसी पर जिस जगह यह घटना हुई वहीं पर शहीद स्मारक का उद्घाटन किया जाएगा और शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी.

सीआरपीएफ ने अपने वीर जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया, “तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोय नहीं. गर्व इतना था कि हम देर तक रोए नहीं.”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी वीर जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया, “उन बहादुर शहीदों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि, जिन्होंने पिछले साल पुलवामा हमले में अपनी जान गंवा दी. वे असाधारण व्यक्ति थे जिन्होंने हमारे राष्ट्र की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया. भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा.”

केंद्रीय मंत्री रक्षा मंंत्री राजनाथ सिंह ने भी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी है. उन्होंने ट्वीट किया, “याद कर रहा हूं सीआरपीएफ के उन जवानों को जो कि इस दिन 2019 में पुलवामा (जम्मू-कश्मीर) में नृशंस हमले के दौरान शहीद हुए. भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा. संपूर्ण राष्ट्र आतंकवाद के खिलाफ एकजुट है और हम इस खतरे के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं.”

गृह मंत्री अमित शाह ने लिखा, “मैं पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं. भारत हमेशा हमारे बहादुरों और उनके परिवारों का आभारी रहेगा, जिन्होंने हमारी मातृभूमि की संप्रभुता और अखंडता के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया.”

इसी बीच देश भर से लोग सोशल मीडिया के जरिए शहीद हुए जवानों को उनकी पहली बरसीं पर याद कर रहे हैं और कह रहे हैं कि उनके इस बलिदान का देश हमेशा ऋणी रहेगा.

देखें कैसे शहीदों को याद कर रहें देश के लोग…

ये भी पढ़ें-  छुट्टियों पर देश में बने समान नागरिक कानून, ‘सामना’ में शिवसेना ने उठाई मांग

                   कपड़े की दुकान से मैच फिक्सिंग के काले कारोबार तक, पढ़ें सट्टेबाज संजीव चावला की पूरी कहानी