32वीं बार वोट डालेंगे स्वतंत्र भारत के पहले मतदाता श्याम सरन नेगी

राज्य निर्वाचन आयोग ने अपने एसवीईईवी (व्यवस्थित मतदाता शिक्षा और चुनावी भागीदारी) अभियान के लिए नेगी को ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया है.

शिमला: स्वतंत्र भारत के प्रथम मतदाता श्याम सरन नेगी किन्नौर के सबसे पुराने स्कूल में मतदान करेंगे. हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिला के सबसे पुराने 1890 में बने स्कूल में मतदान करेंगे. श्याम सरन नेगी अक्टूबर 1951 में पहला मतदान कर चुके हैं. मतदान केंद्र में सम्मान के साथ श्याम सरन नेगी का रेड कार्पेट में स्वागत होगा.

102 वर्षीय श्याम सरन नेगी लोकसभा, विधानसभा और पंचायती राज को जोड़कर अब तक 31वीं बार मतदान कर चुके हैं. कल 32वीं बार वोट डालेंगे. मतदान केंद्र करीब 9 हजार 700 फिट की ऊंचाई पर है. इससे पहले निर्वाचन विभाग की ओर से अधिकारी उन्हें मतदान के लिए लाने उन के घर जाएंगे.

उसके बाद किन्नौर जिला के सबसे पुराने स्कूल में मतदान करेंगे. राज्य निर्वाचन आयोग ने अपने एसवीईईवी (व्यवस्थित मतदाता शिक्षा और चुनावी भागीदारी) अभियान के लिए नेगी को ब्रांड एंबेसडर नियुक्त किया है. चुनाव अधिकारियों की एक टीम हाल ही में उनका हाल-चाल जानने के लिए उनसे मिली थी. 1975 में एक सरकारी स्कूल से कनिष्ठ शिक्षक के रूप में सेवानिवृत्त हुए नेगी स्वतंत्र भारत की पहली लोकसभा में वोट देने वाले नागरिकों में शामिल हैं.

उन्होंने 1951 में चिनि निर्वाचन क्षेत्र में मतदान किया था, जिसका बाद में किन्नौर नाम रख दिया गया. नेगी ने 1951 के बाद से प्रत्येक आम चुनाव, विधानसभा चुनाव और पंचायत चुनाव में मतदान किया है. उन्होंने 2019 लोकसभा चुनाव में भी वोट करने का संकल्प लिया है.

नेगी ने अपने बेटे प्रकाश के माध्यम से बताया था, “मैं सभी मतदाताओं, विशेषकर युवा पीढ़ी से अपील करता हूं कि वे समय दें और एक ईमानदार व्यक्ति का चुनाव करें, जो हमारे देश को नई ऊंचाइयों पर ले जा सके.” नेगी एक जुलाई को 103 साल के हो जाएंगे. उन्हें इस उम्र में थोड़ा कम सुनाई देता है लेकिन उन्हें रेडियो सुनना पसंद है. नेगी ने कहा, “हां, मैं वोट करने वालों में सबसे आगे रहूंगा.” चुनाव विभाग के पास 2007, 2012 व 2017 विधानसभा और 2009 व 2014 संसदीय चुनावों का एक वीडियो है, जिसमें नेगी अपना वोट डालते हुए दिखाई दे रहे हैं.

ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में पीएम मोदी समेत 918 उम्मीदवारों की किस्मत लगी दांव पर

ये भी पढ़ें- डायमंड हार्बर: दांव पर ममता बनर्जी की साख, मुस्लिम साथ फिर भी BJP बिगाड़ सकती है खेल

ये भी पढ़ें- गुरदासपुर में चलेगा बीजेपी का एक्टर फैक्टर या कांग्रेस का धुरंधर मारेगा बाजी?