उपलब्धियों भरा रहा Modi सरकार 2.0 का पहला साल, अब देश को आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य है बड़ी चुनौती

मोदी सरकार 2.0 (Modi Government 2.0) में पहले साल के दौरान लिए गए ज्यादातर महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक फैसलों का संबंध सीधे गृह मंत्रालय (MHA) से जुड़ा है. प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने सरकार के 1 साल पूरे होने पर देश को दिए संदेश में उन तमाम अहम फैसलों को प्रमुखता दी है.

Amit Shah is superman of PM Modi, उपलब्धियों भरा रहा Modi सरकार 2.0 का पहला साल, अब देश को आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य है बड़ी चुनौती

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला साल उपलब्धियों से भरा हुआ है. मोदी सरकार ने अनेक ऐतिहासिक फैसले लेते हुए देश को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में वोकल फ़ॉर लोकल पर जोर देना शुरू किया है. अंतर्राष्ट्रीय महामारी कोरोना के संकट ने देश की अर्थव्यवस्था को हिला कर रख दिया है. अब यदि पीएम की अपील पर देश में लोकल उत्पादों का अधिक चलन बढ़ता है तो निश्चय ही यह 2.0 के पहले साल की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक गिनी जाएगी.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

वैसे तो मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले साल में कई उपलब्धियां हासिल की हैं लेकिन अगर पहले साल में सरकार की उपलब्धियों पर सरसरी निगाह डालें तो निश्चित तौर पर इसमें अव्वल नम्बर हासिल करने में गृहमंत्री अमित शाह सफल रहे. मोदी सरकार 2.0 के दौरान लिए गए ज्यादातर महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक फैसलों का संबंध सीधे-सीधे गृहमंत्रालय से जुड़ा है. यही कारण है कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने सरकार के 1 साल पूरे होने पर देश के लोगों को दिए संदेश में गृह मंत्रालय के उन तमाम अहम फैसलों को प्रमुखता दी है. अपने पत्र और संदेश में पीएम मोदी ने धारा 370, ट्रिपल तलाक और नागरिकता संशोधन कानून का जिक्र सफलता के तौर पर किया है.

पहला, एक साथ ट्रिपल तलाक का खात्मा

सबसे पहले बात ट्रिपल तलाक के खात्मे की- सालों से लंबित इस मसले को सामाजिक समानता पर धब्बा के तौर देखा जा रहा था. इस दकियानूस परंपरा का अंत प्रधानमंत्री मोदी की प्रेरणा से गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्व में हुआ.

Amit Shah is superman of PM Modi, उपलब्धियों भरा रहा Modi सरकार 2.0 का पहला साल, अब देश को आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य है बड़ी चुनौती

दूसरा, जम्मू कश्मीर से धारा 370 और अनुच्छेद 35A को हटाना

दूसरा फैसला कश्मीर से धारा 370 और अनुच्छेद 35A को हटाना- देश की आजादी के समय से बड़ी समस्या के तौर पर देखे जा रहे इस कानून का अंत शाह ने जितने सरल तरीके से किया उसने मोदी सरकार 2.0 में की बड़ी सफलता माना जा सकता है. संसद में कानून बनाकर जम्मू-कश्मीर और लेह लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बनाना बहुत बड़ा ऐतिहासिक कदम साबित हुआ.

तीसरा, नया नागरिकता संशोधन कानून लाना

तीसरा, नागरिकता संशोधन कानून- सालों से इस कानून की मांग होती रही कि विदेशों से धार्मिक उत्पीड़न के चलते भारत आये शरणार्थियों को नागरिकता मिलनी चाहिए लेकिन तमाम राजनीतिक और सामाजिक कारणों से देश में पड़ोसी मुल्कों से आकर रह रहे हिन्दू शरणार्थियों को नागरिकता का अधिकार नहीं मिला. हालांकि इस मसले पर राजनीतिक विवाद बढ़ा और सामाजिक तनाव भी पैदा हुए लेकिन इस कानून को पास कराना मोदी सरकार 2.0 की एक बड़ी सफलता माना जा रहा है.

चौथा, सामाजिक तनाव को नहीं बढ़ने देना

सुप्रीम कोर्ट के राममंदिर पर फैसला और उसके बाद देश के माहौल को शांत रखना और सामाजिक तनाव को नहीं बढ़ने देना मोदी सरकार 2.0 की एक बड़ी सफलता मानी जा रही है. इसके लिए सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले ही जिस तरह से समाज के सभी पक्षों को जोड़कर बातचीत की गयी और किसी भी तरह के फैसले को स्वीकार करने के लिए दोनों ही धर्म के प्रभावशाली लोगों से अपील करवाई गई वो वाकई एक बड़ी सफलता मानी जा रही है. इतने बड़े फैसले के बावजूद देश में कानून व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रित रखना और सदियों पुराने विवाद को हमेशा के लिए खत्म करना कोई आसान बात नहीं थी. इसे मोदी सरकार ने बहुत ही सहजता से निपटाया. साथ ही मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट का गठन कर निर्माण कार्य भी शुरू करवाया जा चुका है.

Amit Shah is superman of PM Modi, उपलब्धियों भरा रहा Modi सरकार 2.0 का पहला साल, अब देश को आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य है बड़ी चुनौती

पांचवा, कोरोना काल में स्वदेशी के फैसले को पहला सपोर्ट

कोरोना काल में देश की चरमराई हुई अर्थव्यवस्था को ताकत देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वदेशी को बढ़ावा देने के लिए देशवासियों से अपील की और कहा कि हमें “वोकल फ़ॉर लोकल” फॉर्मूले के तहत स्वदेशी को बढ़ावा देना होगा. इस क्रम में दो कदम आगे बढ़ते हुए गृहमंत्री ने देश के सभी अर्धसैनिक बलों के कैंटीन में पूर्णतः स्वदेशी सामानों की बिक्री करने का आदेश लागू करवाया. यद्दपि ये कोई कानून नहीं है मगर पीएम की सोच और देश को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है.

सामने है इन दो बड़े मुद्दों की चुनौती

बहरहाल पार्टी की विचारधारा के लिहाज से फिलहाल मोदी सरकार के सामने अभी 2 और बड़े मुद्दे बचे हैं उनका भी सीधा संबंध गृहमंत्रालय से जुड़ा है. पहला समान आचार संहिता और दूसरा एनआरसी कानून बनाना और लागू करवाना.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts