हॉन्ग कॉन्ग इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सैकड़ों उड़ानें रद्द, विरोध प्रदर्शनों का 10वां हफ्ता जारी

हॉन्ग कॉन्ग में ज़ोरदार प्रदर्शनों का दौर जारी है. एयरपोर्ट को घेरकर प्रदर्शनकारी बैठे हैं. आलम ये है कि सैकड़ों उड़ानें रद्द हो चुकी हैं और हजारों लोग परेशानहाल हैं.

हॉन्ग कॉन्ग अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर सैकड़ों उड़ानें रद्द होने की खबरों के बीच यात्रियों में अफरातफरी का माहौल है. दरअसल हॉन्ग कॉन्ग में जारी प्रदर्शन की वजह से उड़ानें एक के बाद एक रद्द हो रही हैं. इससे हजारों यात्रियों पर असर पड़ा है.

आज भी शहर और एयरपोर्ट के आसपास विरोध प्रर्दशनों की आशंका थी जिसके चलते प्रशासन ने यात्रियों को सलाह दी कि वो मंगलवार को एयरपोर्ट पहुंचने से पहले अपनी फ्लाइट का स्टेटस सुनिश्चित कर लें.

इस बीच आज हांगकांग की मुख्य कार्यकारी कैरी लेम ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान चेतावनी दी कि – ये हिंसा हॉन्ग कॉन्ग को ऐसी जगह ले जाएगी जहां से वो कभी वापस नहीं आ सकेगा. मंगलवार को उन्होंने कहा कि हिंसा हॉन्ग कॉन्ग को उस जगह ले जाएगी जहां से वो कभी वापस नहीं लौट सकेगा और परिणाम स्वरूप हॉन्ग कॉन्ग का समाज बेहद चिंताजनक और खतरनाक परिस्थितियों में धंस जाएगा. हॉन्ग कॉन्ग में बीते हफ्ते के घटनाक्रम के बाद मैं बेहद चिंतित हो गई हूं कि हम एक बेहद खतरनाक स्थिति में पहुंच गए हैं. इसके अलावा एयरपोर्ट परिसर और आस-पास के इलाकों में जारी विरोध प्रदर्शनों से निपटने के प्रशासन के रवैये पर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और ऑस्ट्रेलिया के स्कॉट मॉरिसन ने चिंता जाहिर की है.

आज कैथी पैसिफिक एयरवेज ने एयरपोर्ट पर आने और जाने वाली 200 से ज्यादा हवाई उड़ानों के रद्द होने की जानकारी दी जबकि साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के मुताबिक रद्द होने वाली उड़ानों का आंकड़ा 300 से भी अधिक है. इससे पहले कल हॉन्ग कॉन्ग अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की इमारत में हजारों की संख्या में सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के इकट्ठे हो जाने की वजह से वहां से जाने वाली सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया था. एयरपोर्ट के अधिकारियों ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने कामकाज में बाधा पहुंचाई और यात्रियों को चेक इन नहीं करने दिया. सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी पिछले चार दिनों से इस एयरपोर्ट के पास प्रदर्शन कर रहे थे. चौथे दिन तो वो सभी एयरपोर्ट की बिल्डिंग में इकट्ठा हो गए. इस दौरान एयरपोर्ट जाने वाली सभी सड़कें जाम रहीं. आज भी ऐसी ही परिस्थितियां रहने की आशंका के बीच पुलिस ने एहतियाती कदम उठाए हैं और फ्लाइट्स ही रद्द करनी पड़ीं.

हॉन्ग कॉन्ग में विरोध प्रदर्शनों का यह 10वां हफ्ता चल रहा है. लोकतंत्र समर्थकों और पुलिस के बीच ये प्रदर्शन हर रोज और हिंसक होते जा रहे हैं. मानव अधिकार और लोकतंत्र के समर्थक कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर ज्यादा से ज्यादा बल प्रयोग का आरोप लगाया है. उधर चीन ने हॉन्ग कॉन्ग के मामले में ब्रिटेन से दखल नहीं देने को कहा है. ब्रिटेन पर बिगड़ते हुए चीन ने कहा कि बुनियादी कानून के मुताबिक हॉन्ग कॉन्ग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र के विदेश मामलों को चीनी केंद्र सरकार के जरिए निपटाया जाएगा इसलिए ब्रिटिश सरकार की ओर से सीधे तौर पर हॉन्ग कॉन्ग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र की प्रमुख प्रशासक को फोन करना गलत बात है. चीन ने इसे अपने अंदरूनी मामलों में दखल करार दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *