मनमोहन से मिलकर गदगद हुए पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री, सुनाई उनकी महानता की ये कहानी

पाकिस्तान के दरबार साहिब जाने वाले पहले जत्थे को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट का उद्धघाटन कर हरी झंडी दिखाई.

भारत के पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह ने शनिवार को करतारपुर कॉरिडोर से होते हुए पाकिस्तान स्थित दरबार साहिब गुरुद्वारा जाने वाले पहले जत्थे का नेतृत्व किया. पाकिस्तान पहुंचने के बाद पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पूर्व प्रधानमंत्री से मुलाकात की.

मनमोहन सिंह से कुरैशी की मुलाकात का एक वीडियो भी सामने आया है. इस वीडियो में पाकिस्तानी विदेश मंत्री मनमोहन सिंह के साथ उनकी मुलाकात के लम्हों को याद करते हुए एक कहानी बता रहे हैं.

वीडियो में कुरैसी एक वाकया सुनाते हुए कहते हैं कि, “मैं एक बार आपके घर आया था. तब बेगम साहिबा ने चाय बनाई और मनमोहन सिंह साहब खुद चाय लेकर आए थे. मैंने वापस आ कर ये कहानी सभी को सुनाई कि वो (मनमोहन सिंह) कितने महान हैं.” कुरैशी का कहना है कि ये 90 के दशक की बात है.

पीएम मोदी ने दिखाई पहले जत्थे को हरी झंडी

मालूम हो कि पाकिस्तान के दरबार साहिब जाने वाले पहले जत्थे को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट का उद्धघाटन कर हरी झंडी दिखाई थी. इस मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने भारत की भावनाओं का आदर करने के लिए शनिवार को पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान का आभार जताया

सात दशकों के दरम्यान अपनी तरह का यह पहला अवसर था, जब मोदी ने दरबार साहिब की यात्रा के लिए तैयार 500 तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे को रवाना किया. दरबार साहिब को ही करतारपुर साहिब के नाम से पुकारते हैं. यह पाकिस्तान के पंजाब के नारोवाल जिले में स्थित है.

ये भी पढ़ें: करतारपुर कॉरिडोर से गुजरने वाले श्रद्धालु याद रखें ये खास बातें