आंध्र प्रदेश के पूर्व स्‍पीकर कोडेला शिव प्रसाद राव ने लगाई फांसी, सीएम से चल रही थी अनबन

2014 में बंटवारे के बाद कोडेला शिव प्रसाद राव आंध्र प्रदेश के स्‍पीकर बने थे. वह गृहमंत्री और पंचायत राज्‍य मंत्री की भूमिका भी अदा कर चुके हैं.

आंध्र प्रदेश के विधानसभा के पूर्व स्पीकर कोडेला शिव प्रसाद राव ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उनको हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां डॉक्‍टरों ने उन्‍हें मृत घोषित किया गया. 72 वर्षीय राव राज्‍य में तेलुगू देशम पार्टी के वरिष्‍ठतम नेताओं में से एक थे. शिव प्रसाद और आंध्र प्रदेश के वर्तमान मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी के बीच काफी तनाव बना हुआ था.

राव को उनके ड्राइवर और गार्ड ने बसवातारकम इंडो-अमेरिकन कैंसर हॉस्पिटल पहुंचाया. डॉक्टरों ने अभी तक मौत के कारणों की घोषणा नहीं की है. तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के नेता बुद्ध वेंकन्ना ने विजयवाड़ा में आरोप लगाया कि राव ने वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) सरकार द्वारा मानसिक रूप से प्रताड़ित किए जाने के बाद आत्महत्या कर ली.

2014 में बंटवारे के बाद राव आंध्र प्रदेश के स्‍पीकर बने थे. 6 बार विधायक रहे राव ने नरसारावपेट का पांच बार और 2014 में सत्‍तेनपल्‍ली का एक बार प्रतिनिधित्‍व किया है. वह गृहमंत्री और पंचायत राज्‍य मंत्री की भूमिका भी अदा कर चुके हैं.

राव ने 1983 में TDP का दामन थामा था. उनके दो बेटे और एक बेटी है.