डायरी लिखने के शौकीन थे मांगे राम, PM मोदी ने लोकसभा चुनाव में दी थी ये अहम जिम्मेदारी

मांगे राम गर्ग में चुनाव जीतने की गजब की कला थी. वो राजनीतिक जीवन में गलतियां न के बराबर करते थे.

नई दिल्ली: दिल्ली बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष मांगे राम गर्ग का रविवार सुबह 7.30 बजे निधन हो गया. वो लंबे समय से बीमार चल रहे थे. गर्ग का उत्तरी दिल्ली के एक्शन बालाजी अस्पताल में इलाज चल रहा था.

दिल्ली भाजपा कार्यालय के अनुसार, गर्ग का पार्थिक शरीर प्रदेश कार्यालय में 11.30 से 1 बजे तक रखा जाएगा. जहां पर लोग उनका अंतिम दर्शन कर सकेंगे. बताया जा रहा है कि मांगे राम गर्ग ने देह दान कर रखा था, इसलिए एम्स में उनके अंगों को दान किया जाएगा.

देर से रखा राजनीति में कदम
बताते हैं कि गर्ग अपने शुरुआती दिनों में हलवाई थे. इसी बीच उनकी दिलचस्पी राजनीति में जागी. गर्ग साल 2003 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में पहली बार जीत दर्ज की थी और विधायक बने थे. गर्ग की गिनती उन नेताओं में होती है जिन्होंने राजनीति में देर से कदम रखा लेकिन काफी आगे तक गए.

गर्ग ने भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी भी संभाली थी. इतना ही नहीं, उन्होंने दिल्ली में एमसीडी चुनाव का नेतृत्व किया था और जीत भी दिलाई थी. जानकार बताते हैं कि मांगे राम गर्ग में चुनाव जीतने की अद्भुत कला थी. वो राजनीतिक जीवन में बहुत कम गलतियां करते थे. गर्ग संघ का से भी गहरा नाता था.

PM मोदी ने दी थी अहम जिम्मेदारी
लोकसभा चुनाव के दौरान मांगे राम गर्ग को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से अहम जिम्मेदारी मिली थी. बीजेपी ने चुनावी रणनीति बनाने और चुनाव प्रचार को आगे बढ़ाने के लिए जिन नेताओं को चुना था, उनमें गर्ग भी शामिल थे.

गर्ग को जिम्मेदारी मिली थी कि वो सामाजिक व स्वयंसेवी संगठनों से संपर्क करके उन्हें मोदी सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताएंगे. साथ ही गर्ग को पार्टी की नीतियों को पहुंचाने के लिए बनाई गई समिति में भी शामिल किया गया था.

डायरी लिखने का था शौक
गर्ग को डायरी लिखने का शौक था. वो हर रोज डायरी लिखा करते थे. रिपोर्ट के मुताबिक वो अपनी राजनीतिक बैठकों के बारे में भी लिखते थे. जैसे कि..’आज मैं करोल बाग के पार्टी कार्यकर्ताओं से मिला, मिनी-रथ यात्रा शुरू की, जो विफल रही हैं और स्थानीय पार्टी में हर वरिष्ठ सदस्य को हाशिए पर डाल दिया है.’

ये भी पढ़ें-

DDLJ थी शीला दीक्षित की फेवरेट फिल्म, इतनी बार देखी कि घरवालों से मिल गई वॉर्निंग

LIVE: पूर्व सीएम शीला दीक्षित का 2.30 बजे अंतिम संस्कार, कांग्रेस हेडक्ववार्टर लाया जाएगा पार्थिव शरीर

पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के सम्मान में दो दिन के राजकीय शोक की घोषणा

Related Posts