पाकिस्तान का रवैया बदलने के लिए भारत को भी बदलना होगा: पी. चिदम्बरम

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने यह बात ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन के मंच पर 'बियॉन्ड पॉलिटिक्स: डिबेटिंग अ न्यू सिक्योरिटी मेनिफेस्टो' पर हुई चर्चा के दौरान कही.

नई दिल्ली: भारत और पाकिस्तान के खराब होते रिश्तों को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदम्बरम ने रविवार को कहा कि अगर पाकिस्तान के व्यवहार में बदलाव लाना है तो भारत को देश के प्रति अपने रवैये में बदलाव लाना होगा.

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने यह बात ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन के मंच पर ‘बियॉन्ड पॉलिटिक्स: डिबेटिंग अ न्यू सिक्योरिटी मेनिफेस्टो’ पर हुई चर्चा के दौरान कही.

चिदम्बरम ने कहा, “हम चाहते हैं कि पाकिस्तान अपना व्यवहार बदले. इसका मतलब है कि हमें भी पाकिस्तान के प्रति अपना व्यवहार बदलना होगा. यह बदलाव समय-समय पर होता रहेगा, लेकिन हमें भी प्रयास करना चाहिए.”

इसके आगे पूर्व वित्त मंत्री ने कहा “सुरक्षा और अन्य पहलुओं के मामले में बाहरी तत्वों और सबसे बड़ी बाहरी चुनौतियों से लड़ने के लिए हमें एक ऐसा रास्ता खोजने की जरूरत है, जो कि भारत-पाकिस्तान के बीच संबंधों को सामान्य कर सके.”

केंद्र की पीएम मोदी सरकार पूर्व वित्त मंत्री की इस बात पर कितना गौर करती है इस पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता, क्योंकि कांग्रेस नेताओं की टिप्पणियां बीजेपी के साथ अच्छी नहीं रही है. बीजेपी कई बार अपने बयानों में यह दावा करती आई है कि कांग्रेस पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की भाषा बोलती है और पाकिस्तान सरकार की जनसंपर्क शाखा के रूप में काम करती है.