नौसेना पूर्व कमांडर का दावा, INS विराट पर छुट्टी बिताने गए थे राजीव गांधी

पीएम मोदी ने हाल ही में आरोप लगाया था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने विमान वाहक पोत आईएनएस विराट का इस्तेमाल निजी छुट्टियां मनाने के लिए किया.

नई दिल्ली:  पूर्व PM राजीव गांधी द्वारा INS विराट पर छुट्टी मनाने को लेकर नौसेना के पूर्व कमांडर वी.के.जेटली ने बयान दिया है. उन्होंने कहा ”उस समय मैं INS विराट पर ही था जब राजीव गांधी आइलैंड पर छुट्टियों के लिए गए थे. सोनिया गांधी और राजीव गांधी ये लोग जहाज पर आए और रात को रुके भी.

शाम को उनके लिए एक पार्टी भी आयोजित की गई थी. जिसके बाद अगले दिन ये लोग आइलैंड के लिए चले गए और वहाँ लगभग 5 से 7 दिन रहे होंगे इतना मुझे याद नहीं है. जब भी विराट जाता है तो उसके साथ 5 से 6 शिप और साथ रहते हैं और ये शिप करीब 10 दिन उसी इलाके में थे.

तो जब ये लोग छुटियां मना रहे थे हम लोग वही आसपास थे. छुट्टियों के बाद राजीव गांधी वापस आए थे तब उनको कुछ एक्सरसाइज दिखाई गई. इसको अधिकारिक दौर कह सकते है लेकिन वो कितने समय का हो सकता ? बाकी टाइम जो 10 दिन या एक हफ्ता छुट्टियां बिता रहे थे और इसमें हमारे नेवी के ऑफिसर ड्यूटी दे रहे थे. ये साफ है कि छुट्टियां बिताने के लिए विराट का इस्तेमाल किया गया.”

पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) पर INS विराट का टैक्सी की तरह इस्तेमाल करने का आरोप लगाने के बाद पूर्व रियर एडमिरल कपिल गुप्ता ने इन आरोपों पर सफाई देते हुए कहा  था कि, राजीव गांधी उस वक्त वहां आए थे लेकिन यह कहना कि उन्होंने INS विराट का इस्तेमाल छुट्टियां बिताने के लिए किया था, गलत है.

रुटीन प्रक्रिया का हिस्सा है PM का आना

पूर्व रियर एडमिरल  कपिल गुप्ता (Rear admiral Kapil Gupta) ने बताया कि जब राजीव गांधी की छुट्टियों की शुरुआत हुई थी तब वहां प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए एक जहाज को छोड़कर वहां पर और कोई जहाज नहीं था. उन्होंने बताया कि INS विराट तब वहां नहीं था. उन्होंने बताया कि यह रुटीन प्रक्रिया का हिस्सा है. जब राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री या रक्षा मंत्री सेना की अलग-अलग यूनिट्स को विजिट करने आते हैं तो नेवी भी उन्हें अपने जंगी जहाज दिखाने ले जाती है. 1-2 दिन उन्हें समुद्र में ले जाकर नेवी की क्षमता से अवगत कराया जाता है. इस प्रक्रिया में अगर वे चाहें तो अपने परिवार को भी ले जा सकते हैं, इसमें कोई गलती नहीं है.

यह है मामला-
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को आरोप लगाया था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने विमान वाहक पोत आईएनएस विराट का इस्तेमाल निजी छुट्टियां मनाने के लिए किया था. मोदी ने कहा था कि ‘किसने रक्षा बलों के साथ निजी संपत्ति जैसा व्यवहार किया है? क्या आपने कभी सुना है कि कोई परिवार छुट्टी मनाने के लिए युद्धपोत से गया हो? ऐसा हमारे देश में हुआ है. नामदार परिवार ने आईएनएस विराट का इस्तेमाल निजी संपत्ति की तरह से किया था.’

हालांकि, कांग्रेस ने गुरुवार को पीएम मोदी के इस आरोप को खारिज कर दिया था और कहा था कि आईएनएस विराट का इस्तेमाल छुट्टियों के लिए नहीं बल्कि आधिकारिक उद्देश्य के लिए किया. इस बीच अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस ने उस दौरान अखबार में छपी अपनी रिपोर्टों को लेकर इस पर एक खबर प्रकाशित की है. इसमें राजीव गांधी की साल 1987 में अंडमान में छुट्टियों को लेकर विस्तार से जानकारी दी गई है.

ये भी पढ़ें- जब लक्षद्वीप में छुट्टियां मनाने गए थे राजीव गांधी, विमान से पहुंचाया गया रसोइया-पानी-जनरेटर

ये भी पढ़ें- राजीव गांधी ने नहीं किया छुट्टियां बिताने के लिए INS विराट का इस्तेमाल- पूर्व रियर एडमिरल का दावा 

ये भी पढ़ें- पूर्व नेवी चीफ का दावा, राजीव गांधी ने नहीं किया INS विराट का निजी इस्तेमाल