करतारपुर जाने वाले पहले जत्‍थे में शामिल होंगे मनमोहन सिंह, PAK यात्रा से नहीं है कोई लेना-देना

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मनमोहन सिंह को जत्थे में शामिल होने का न्योता भेजा था.
Manmohan Singh, करतारपुर जाने वाले पहले जत्‍थे में शामिल होंगे मनमोहन सिंह, PAK यात्रा से नहीं है कोई लेना-देना

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह करतारपुर साहिब जाने वाले श्रद्धालुओं के पहले जत्‍थे में शामिल होंगे. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह भी इस जत्थे का हिस्सा होंगे. सूत्रों के मुताबिक, मनमोहन और अमरिंदर करतारपुर साहिब कॉरिडोर का इस्‍तेमाल करते हुए बाबा नानक के दरबार में जाएंगे और मत्‍था टेककर लौट आएंगे.

रिपोर्ट के मुताबिक, मनमोहन सिंह और अमरिंदर सिंह की इस यात्रा का पाकिस्‍तान से कोई लेना-देना नहीं होगा. वे पाकिस्‍तान के न्‍योते पर करतारपुर साहिब नहीं जा रहे हैं बल्कि श्रद्धालु के तौर पर सिर्फ दर्शन करने जा रहे हैं.

मालूम हो कि इससे पहले पाकिस्तान ने मनमोहन सिंह को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन में आने का न्योता भेजा था. लेकिन मनमोहन ने इसपर विदेश मंत्रालय की स्वीकृति लेने की बात कही थी.

अमरिंदर सिंह ने मनमोहन सिंह से की मुलाकात
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मनमोहन सिंह से मुलाकात की तस्वीर को भी ट्विटर पर शेयर की. उन्होंने ट्वीट किया, “पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह से आज उनके आवास पर मिलकर खुश हूं. उनको श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने में पहले जत्थे में अपने साथ शामिल होने और गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर सुल्तानपुर लोधी में होने वाले मुख्य समारोह में शामिल होने का न्योता दिया है.”


कैप्टन अमरिंदर और PM मोदी की मुलाकात
कैप्टन अमरिंदर ने पीएम मोदी के साथ मुलाकात की तस्वीर को भी ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिला और उन्हें गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर सुल्तानपुर लोधी और डेरा बाबा नानक में होने वाले महाजश्न की राज्य सरकार द्वारा की जा रही तैयारियों के बारे में बताया. उन्हें इस महाजश्न में शामिल होने और कार्यक्रम की अध्यक्षता करने के लिए पंजाब आने का न्योता दिया.”

इस बीच कैप्टन अमरिंदर ने केंद्र सरकार से 21 लोगों के जत्थे को पाकिस्तान भेजने की अनुमति मांगी है. ये लोग 30 अक्टूबर से 3 नवंबर तक वहां रहेंगे और वहां से नगर कीर्तन को अमृतसर तक लाएंगे.

ये भी पढ़ें-

पी चिदंबरम को फिर लगा झटका, दिल्ली हाई कोर्ट ने 17 अक्टूबर तक बढ़ाई न्यायिक हिरासत

Ayodhya Case Live: ‘सबसे भरोसेमंद दस्तावेज स्कंद पुराण, जन्म स्थान की परिक्रमा करके प्राप्त होगा मोक्ष’

जम्‍मू के कई सीनियर नेता रिहा, गवर्नर के एडवाइजर बोले- हालात देख कश्‍मीरी लीडर्स को भी छोड़ेंगे

Related Posts