सुप्रीम कोर्ट के निर्देश को दरकिनार कर जांच में शामिल नहीं हो रहे पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी, अभी भी अंडरग्राउंड

एसआईटी (SIT) के सामने ना जाकर उनके वकील पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट पहुंचे और वहां पर अपील की कि सुप्रीम कोर्ट ने सिर्फ उनकी एक ही मामले में गिरफ्तारी पर 3 हफ्ते की रोक लगाई है, जबकि पंजाब पुलिस ने उनके खिलाफ कई अन्य मामले भी दर्ज कर रखे हैं.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) से राहत मिलने के बावजूद 9 दिनों से पंजाब (Punjab) के पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी (Former DGP Sumedh Saini) अपहरण (Abduction) और हत्या (Murder) के मामले को लेकर अभी भी अंडरग्राउंड हैं. हालांकि, कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर 3 हफ्ते की राहत दे दी थी. इसके बावजूद सुप्रीम कोर्ट के निर्देश को दरकिनार करते हुए सुमेध सैनी पंजाब पुलिस की जांच में शामिल नहीं हो रहे हैं और अंडरग्राउंड हैं.

ताजा डेवेलपमेंट में पंजाब पुलिस ने उन्हें 23 सितंबर को एसआईटी की जांच में शामिल होने के लिए नोटिस दिया था, लेकिन सुमेध सैनी नहीं पहुंचे. एसआईटी के सामने ना जाकर उनके वकील पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट पहुंचे और वहां पर अपील की कि सुप्रीम कोर्ट ने सिर्फ उनकी एक ही मामले में गिरफ्तारी पर 3 हफ्ते की रोक लगाई है, जबकि पंजाब पुलिस ने उनके खिलाफ कई अन्य मामले भी दर्ज कर रखे हैं. ऐसे में ये मुमकिन है कि उनको किसी अन्य मामले में गिरफ्तार कर लिया जाए.

हाईकोर्ट से भी मिली थी सुमेध सैनी को राहत

इसे लेकर हाईकोर्ट ने भी सुमेध सैनी को राहत देते हुए पंजाब पुलिस को निर्देश दिया है कि अगर किसी भी मामले में सुमेध सैनी को गिरफ्तार करना हो तो उन्हें कम से कम 7 दिन का नोटिस दिया जाए.

अंडरग्राउंड होना पड़ सकता है भारी

सुप्रीम कोर्ट के बाद हाईकोर्ट से भी राहत मिल जाने के बावजूद सैनी अंडरग्राउंड हैं और पंजाब पुलिस की जांच में शामिल नहीं हो रहे हैं. सुमेध सैनी का इस तरह से कानून से बचना सुप्रीम कोर्ट में उन्हें भारी पड़ सकता है. क्योंकि, सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया था कि 3 हफ्ते तक अपहरण और हत्या के मामले में उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाएगा लेकिन उन्हें पुलिस की जांच में शामिल होना होगा. लेकिन सुमेध कोर्ट के आदेश का पालन नहीं कर रहे हैं.

Related Posts