पश्चिम बंगाल में जमीन तलाश रहा RSS, एक साल में मोहन भागवत का चौथा दौरा

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में चुनाव भले ही 2021 में हों लेकिन RSS ने अपनी जमीन अभी से तलाश करनी शुरू कर दी है. मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) इन दिनों एक साल के अंदर अपने चौथे बंगाल दौरे पर हैं.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 12:22 am, Thu, 24 September 20
Mohan-Bhagwat
File Pic

पश्चिम बंगाल में चुनाव की तैयारियों में अभी समय है लेकिन राष्ट्रीय स्वयं सेवकसंघ (RSS) का रुझान पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ गया है. ये संकेत मिलते हैं संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) के एक साल में चौथे बंगाल दौरे से. 25 सितंबर को अपना तीन दिवसीय दौरा पूरा करके मोहन भागवत कोलकाता से रवाना होंगे.

न्यूज एजेंसी आईएएनएस की खबर के मुताबिक मोहन भागवत कोलकाता से ओडिशा जाएंगे. 22 सितंबर को सरसंघचालक मोहन भागवत कोलकाता पहुंचे थे. संघ के सूत्रों के मुताबिक बुधवार को उन्होंने कुछ संघ प्रचारकों से भेंट कर राज्य के हालात के बारे में जानकारी ली. 24 सितंबर को भी वो संघ और सहयोगी संगठनों के पदाधिकारियों से मिलेंगे. 25 सितंबर की सुबह वह कोलकाता से रवाना होंगे.

यह भी पढ़ें : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालय में कोरोना की दस्तक, 9 वरिष्ठ अधिकारी नागपुर के अस्पताल में भर्ती

संघ सूत्रों की मानें तो एक साल में चौथे दौरे से पश्चिम बंगाल में RSS की खास रणनीति के संकेत मिलते हैं. बता दें कि 2021 में राज्य में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. संघ के शीर्ष अधिकारियों की ओर से पश्चिम बंगाल पर लगातार ध्यान दिया जा रहा है. संघ ग्रामीण क्षेत्रों से स्वयं सेवकों को तैयार करने में जुटा है.

संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत इससे पहले पिछले साल एक और 31 अगस्त को कोलकाता आए थे. इसके बाद 19 सितंबर 2019 को भी उन्होंने पश्चिम बंगाल दौरा किया था. इस दौरान उन्होंने कई बैठकें कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए थे. सितंबर 2020 में मोहन भागवत का यह चौथा दौरा है.