कानूनी पचड़ों से थे परेशान या मीडिया ट्रायल ने ले ली सेंट स्टीफेंस के प्रोफेसर की जान

प्रोफ़ेसर के मित्र ने बताया कि सार्वजनिक तौर पर अपमानित होने के बाद से दोनों हताशा के शिकार हो गए थे. इतना ही नहीं एलेन ने उनसे बात करना बंद कर दिया था.

दिल्ली विश्वविद्यालय के नामी कॉलेज सेंट स्टीफेंस के प्रोफ़ेसर एलेन स्टैनली की लाश संदिग्ध हालत में मिलने के बाद से पुलिस तफ़्तीश में जुटी हुई है. अभी तक की रिपोर्ट के मुताबिक यह पूरा मामला आत्महत्या का लग रहा है. बताया जा रहा है कि प्रोफ़ेसर ने पहले अपनी मां की हत्या की और बाद में आत्महत्या.

पुलिस, प्रारंभिक जांच के मुताबिक मान रही है कि एलेन ने अपनी मां की हत्या करने के बाद उसे फंदे पर लटकाया और उसके बाद ट्रेन के सामने कूदकर खुदकुशी कर ली. हालांकि उन्होंने यह भी कहा है कि मौत के सही कारणों का पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही चलेगा.

गौरतलब है कि डीयू के प्रोफ़ेसर का शव सराय रोहिल्ला रेलवे ट्रैक पर मिला था जबकि उनकी मां का शव घर पर मिला था.

एलेन स्टैनली के दोस्तों के मुताबिक मां-बेटे क़ानूनी लड़ाई लड़ते-लड़ते परेशान हो गए थे. वहीं एक अन्य मित्र इस आत्महत्या को मीडिया ट्रायल का परिणाम बता रहे हैं. इस मित्र ने अपने फ़ेसबुक वॉल पर 15 अक्तूबर को प्रकाशित केरल के अख़बार की एक ख़बर का हवाला देते हुए लिखा कि इस वजह से दोनों अपमानित महसूस कर रहे थे.

दरअसल इस ख़बर में एलेन और उसकी मां की तुलना केरल के कूडाथाई सीरियल मर्डर के आरोपियों से की गई थी.

प्रोफ़ेसर के मित्र ने बताया कि इस तरह सार्वजनिक तौर पर अपमानित होने के बाद से दोनों हताशा के शिकार हो गए थे. इतना ही नहीं एलेन ने उनसे बात करना बंद कर दिया था.

वहीं मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि एलेन ने कुछ दिनों पहले एक महिला मित्र के सामने मां के साथ खुदकुशी करने की बात कही थी. जिसके बाद महिला मित्र ने एलेन को काफी समझाया था. इतना ही नहीं वो कुछ दिनों तक उनके घर पर भी रही और उनसे बातचीत कर समझाने की कोशिश की. लेकिन तीन दिन बाद मां-बेटे ने महिला मित्र को अपने रिश्तेदार के घर आने की बात कह कर उसे वहां से विदा कर दिया.

एलेन ने सेंट स्टीफंस कॉलेज से स्नातक किया था बाद में हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री हासिल की. एलेन ने एक साल पहले ही गेस्ट लेक्चरर के तौर पर स्टीफंस कॉलेज ज्वाइन किया था. एलेन आइआइटी से पीएचडी भी कर रहे थे.

दोनों मूल रूप से कोटयम, केरल के रहने वाले थे. स्टेनली दिल्ली में लगभग डेढ़ साल से रह रहा था और उसकी मां लगभग 7 महीने पहले ही यहां आई थी. इनके सभी रिश्तेदार केरल में रहते हैं.