प्लाज्मा डोनेशन से लेकर अंतिम संस्कार कराने तक, Corona काल में ऐसे मदद कर रहा RSS

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) और उसके राष्ट्रव्यापी नेटवर्क (Nationwide Network) ने लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान रणनीति के तहत काम किया है. जमीनी स्तर पर शाखा की गतिविधियां जोर पकड़ रही हैं.

RSS helping needy people, प्लाज्मा डोनेशन से लेकर अंतिम संस्कार कराने तक, Corona काल में ऐसे मदद कर रहा RSS
PS- PTI

कोरोनावायरस (Coronavirus) काल की मुश्किल घड़ी में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) लोगों की मदद के लिए आगे आया है. उत्तर प्रदेश, दिल्ली, बेंगलुरु, गुवाहाटी और सूरत में प्लाज्मा डोनशन (Plasma Donation) अरेंज करना हो, या बिहार में माइग्रेंट्स (Migrants in Bihar) के लिए शेल्टर खोलने हों, संघ हर काम बढ़-चढ़कर कर रहा है.

इसके अलावा संघ द्वारा पश्चिम बंगाल में फूड पैकेट्स बांटे गए, कर्नाटक में मास्क और सेनेटाइजर दिए गए, केरल में छात्रों की वर्चुअल क्लासेज के लिए टीवी सेट डोनेट किए गए, लॉकडाउन (Lockdown) में माइग्रेंट्स के लिए गाड़ियों का इंतजाम किया गया और साथ ही महाराष्ट्र में पीड़ितों के अंतिम संस्कार का प्रबंधन किया गया.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

जमीनी स्तर पर शाखा की गतिविधियां पकड़ रही हैं जोर

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उसके राष्ट्रव्यापी नेटवर्क ने लॉकडाउन के दौरान रणनीति के तहत काम किया है. जमीनी स्तर पर शाखा की गतिविधियां जोर पकड़ रही हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, आरएसएस सेवा विभाग के हेड पराग अभयंकर ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान करीब पांच लाख वॉलंटियर्स ने 4.66 करोड़ फूड पैकेट्स बांटे हैं और 44.86 लाख माइग्रेंट्स की मदद की गई है. इतना ही नहीं जबसे लॉकडाउन खत्म हुआ है, तब से हमारी कोशिश है कि मजदूरों को उनकी नौकरी वापस दिलाने में मदद की जाए.

सेवा एक दायित्व नहीं, बल्कि हमारा कर्तव्य

पराग के अनुसार, लॉकडाउन लागू किए जाने के एक महीने बाद आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा राहत कार्य चालू करने की अपील कई गई थी. उन्होंने कहा था कि हमारी सेवा बिना पक्षपात के होने चाहिए. सेवा एक दायित्व नहीं, बल्कि हमारा कर्तव्य है.

संघ का कहना है कि सेवा विभाग ने पांच महीने में 92 हजार राहत केंद्र खोले हैं. इसके अलावा 483 मेडिसिन डिस्ट्रिब्यूशन सेंटर, 60 हजार कार्यकर्ताओं ने ब्लड डोनेट किया और करीब 73.8 लाख राशन किट बांटी गईं. इस दौरान कई कार्यकर्ता और नेता, जिसमें ज्वॉइंट पब्लिसिटी चीफ सुनील अंबेकर कोरोनावायरस संक्रमित हुए और चार की मौत भी हुई. जिन लोगों की कोरोनावायरस के कारण मृत्यु हुई, उनमें दो मध्य प्रदेश, एक महाराष्ट्र और एक बिहार के शामिल हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts