आनंद विहार स्टेशन मेकशिफ्ट अस्पताल में तब्दील, रेलवे की ओर से 8000 आइसोलेशन बेड की तैयारी

दिल्ली में COVID-19 के बढ़ते संक्रमण के बीच फिलहाल स्टेशन चिन्हित किए जा रहे हैं. अभी दिल्ली में शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन के वाशिंग यार्ड और आनंद विहार रेलवे स्टेरशन पर आइसोलेशन कोच लगाए जा रहे हैं.
From today no train from Anand Vihar railway station, आनंद विहार स्टेशन मेकशिफ्ट अस्पताल में तब्दील, रेलवे की ओर से 8000 आइसोलेशन बेड की तैयारी

केंद्र सरकार ने कोरोना (Coronavirus) के बढ़ते खतरे को भांपते हुए दिल्ली में ज्यादा से ज्यादा बेड का इंतजाम करने के लिए दिल्ली सरकार को सलाह दी थी. इसी क्रम में गृह मंत्रालय की ओर से रेलवे को कहा गया है कि उनकी तरफ से ज्यादा से ज्यादा आइसोलेशन बेड दिल्ली सरकार को मुहैया कराया जाएं. रेलवे ने दिल्ली में दो जगहों को चिन्हित किया है जहां कोरोना संक्रमित मरीजों को ट्रेन आइसोलेशन में रखा जाएगा.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

उत्तर रेलवे के प्रमुख जन सम्पर्क अधिकारी दीपक कुमार ने टीवी9 भारतवर्ष से बातचीत में कहा कि रेलवे की ओर से दिल्ली सरकार को 500 कोच उपलब्ध कराए जा रहे हैं.

कैसा होगा आइसोलेशन कोच

दीपक कुमार ने बताया कि एक आइसोलेशन कोच (Isolation Coach) में 9 कूपे होते हैं. एक कूपे में दो संक्रमित मरीजों को रखा जाएगा. इस तरह एक कोच में सोलह संक्रमित मरीज होंगे और कोच का नवां कूप मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर के लिए रिजर्व होगा. इस कोच में आक्सीजन सेलेंडर भी होगा जिसे जरुरत के हिसाब से मरीजों को दिया जाएगा.

क्या-क्या होगा इस आइसोलेशन कोच में

कोविड संक्रमित मरीजों की सुविधा के लिए उन्हें कोच में ही खाना उपलब्ध कराया जाएगा. खाना रेलवे की ओर से दिया जाएगा. इसके साथ ट्रेन सामान्य स्तर की होगी जिसमें वातानूकूलित (AC) व्यवस्था नहीं होगी. रेलवे के जन सम्पर्क अधिकारी ने बताया कि केद्र सरकार के गाइडलाइन के अनुसार पंखा और रोशनी की समुचित व्यवस्था होगी.

कौन करेगा मरीजों का चयन

किस तरह के मरीजों को रेलवे के इस आइसोलेशन कोच में दाखिला मिलेगा इसका फैसला दिल्ली सरकार करेगी. दिल्ली सरकार के प्रशासनिक अधिकारी और मेडिकल टीम मरीजों को रेल आइसोलेशन कोच अलॉट करेंगे. कोई भी व्यक्ति सीधे यहां आकर दाखिला नहीं ले सकता है. दिल्ली सरकार एम्बलेंस से कोरोना संक्रमित मरीजों को लेकर आएगी और फिर उन्हें यहां रहने की इजाजत होगी.

माइल्ड सिम्पटम वाले मरीजों को तरजीह

दीपक कुमार ने बताया कि वैसे तो मरीजों के चयन का जिम्मा पूरी तरह से दिल्ली सरकार को दे दिया गया है लेकिन उन्हें मिली जानकारी के अनुसार माइल्ड सिम्पटम वाले मरीजों को यहां लाया जाएगा. यदि मरीजों की तबीयत ज्यादा खराब होती है तो उन्हें तत्काल प्रभाव से पास के किसी कोविड अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा.

एम्स के डॉक्टर देंगे सलाह

रेलवे के कोच में जो आइसोलेशन वार्ड बनाया जा रहा है उसमें किस तरह से कोविड के मरीजों की देखभाल करनी है उसके लिए खास डॉक्टरों की टीम बनाई गयी है. डॉयरेक्टर एम्स को इस बात का जिम्मा दिया गया है कि वह रेलवे खास तरीके के आइसोलेशन वार्ड में तैनात डॉक्टरों को ट्रेंड करें. इसके लिए डॉयरेक्टर एम्स को डॉक्टरों की पूरी टीम तैनात करने को कहा गया है जो जरुरत पड़ने पर फोन से भी आइसोलेशन वार्ड के डॉक्टरों का मार्गदर्शन कर सकें.

चिन्हित किए जा रहे स्टेशन

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच फिलहाल स्टेशन चिन्हित किए जा रहे हैं. अभी दिल्ली में शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन के वाशिंग यार्ड और आनंद विहार रेलवे स्टेरशन पर आइसोलेशन कोच लगाए जा रहे हैं. इसके साथ ही दिल्ली में तीसरे स्टेशन की तलाश की जा रही है जहां इस तरह के कोच लगाए जा सके. स्टेशन की तलाश से पहले वहां रोशनी, पानी और एंबुलेंस के आने जाने की व्यवस्था और अस्पताल के बीच की दूरी का खास ध्यान रखा जा रहा है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

Related Posts