गगनयान मिशन के लिए चुने गए IAF के चार पायलट, चंद्रयान-3 को सरकार ने दी मंजूरी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2018 में स्‍वतंत्रता दिवस पर राष्‍ट्र के नाम संबोधन में गगनयान मिशन का ऐलान किया था.

गगनयान मिशन के लिए इंडियन एयरफोर्स के चार पायलट चुन लिए गए हैं. इंडियन स्‍पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (ISRO) चीफ के. सिवन ने बुधवार को यह जानकारी दी. प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिवन ने कहा कि चारों पुरुष ऑफिसर्स हैं. इन सभी को जनवरी के तीसरे हफ्ते से रूस में ट्रेनिंग दी जाएगी.

भारत ने 2022 तक गगनयान के जरिए अंतरिक्ष में मानव भेजने का लक्ष्‍य रखा है. यह मिशन करीब सात दिन चलेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2018 में स्‍वतंत्रता दिवस पर राष्‍ट्र के नाम संबोधन में इस मिशन का ऐलान किया था.

सिवन के मुताबिक, सरकार ने चंद्रयान-3 मिशन को भी मंजूरी दे दी है. इस प्रोजेक्‍ट पर काम शुरू हो गया है. उन्‍होंने यह भी बताया कि दूसरे स्‍पेस पोर्ट के लिए तमिलनाडु के तूतूकुड़ी में भूमि अधिग्रहण का काम शुरू हो गया है.

सिवन ने बताया, “हमने चंद्रयान-2 पर अच्‍छी प्रोग्रेस की है. हम भले ही सफलतापूर्वक लैंड नहीं कर सके, ऑर्बिटर अभी भी काम कर रहा है. यह साइंस डेटा देने के लिए अगले 7 साल तक काम करता रहेगा.”

ये भी पढ़ें

ISRO 2020 में लॉन्च करेगा चंद्रयान-3, पिछले मिशन से कम होगी लागत