उसी जगह…उसी वक्‍त हुआ दरिंदों का ‘हिसाब’, 10 प्‍वॉइंट्स में हैदराबाद एनकाउंटर की पूरी कहानी

पुलिस क्राइम सीन रिक्रिएट करने के लिए आरोपियों को शादनगर के उसी फ्लाईओवर के नीचे लेकर गई थी, जहां पर उन्होंने दिशा को जलाया था.

वही जगह… वही वक्‍त… बस इस बार चीखने की बारी आरोपियों की थी. जिस तरह दिशा (बदला हुआ नाम) आरोपियों के सामने चीख-चीखकर अपनी इज्जत बचाने की खातिर गिड़गिड़ाई होगी, उसी तरह अपने सामने मौत देख इन आरोपियों की भी रूह कांपी होगी.

कहते है न कि ‘बुर काम का बुरा नतीजा.’ बस ऐसा ही इन आरोपियों के साथ भी हुआ. पुलिस क्राइम सीन रिक्रिएट करने के लिए आरोपियों को शादनगर के उसी फ्लाईओवर के नीचे लेकर गई थी, जहां पर उन्होंने दिशा को जलाया था.

6 दिसंबर, 2019 यानि गुरुवार की देर रात कुछ ऐसा हुआ, जिससे देश की बेटियों में खुशी की लहर है. गुरुवार तड़के पुलिस-आरोपियों के बीच हुए एनकाउंटर में चारों आरोपी ढेर हो गए.

उस समय कब, क्या हुआ, चलिए 10 प्‍वॉइंट्स में जानते हैं एनकाउंटर की पूरी कहानी.

1. पुलिस चारों आरोपियों को हैदराबाद से करीब 50 किलोमीटर दूर चत्तनपल्ली लेकर गई, जहां पर आरोपियों ने 27 नवंबर को पीड़िता को जलाया था.

2. पुलिस आरोपियों को क्राइम रिक्रिएट कराने के लिए लेकर गई थी, जिससे उन्हें केस में आगे की कार्रवाई में मदद मिल सके.

3. आरोपियों के खिलाफ लोगों के मन में आक्रोश था, इसलिए पुलिस आधीरात में आरोपियों को घटनास्थल पर लेकर गई.

4. पुलिस के अनुसार, चत्तनपल्ली पहुंचने के बाद चारों आरोपियों ने एक दूसरे से इशारा किया कि वे पुलिस पर हमला कर वहां से भाग निकलेंगे.

5. आरोपियों से पुलिस क्राइम सीन को रिक्रिएट करा रही थी कि तभी आरोपियों ने उनपर हमला कर दिया.

6. पुलिस पर आरोपियों ने पत्थरों से हमला किया और फिर वे खाली मैदान की तरफ भागने लगे.

7. आरोपियों को वॉर्निंग दी गई, लेकिन वे नहीं रुके.

8. इसके बाद पुलिस ने ओपन फायर किया, जिसमें चारों आरोपी ढेर हो गए.

9. ये एनकाउंटर एनएच-44 पर हुआ.

10. यह सब तड़के 3 बजे से 6 बजे के बीच हुआ. इन तीन घंटे में खत्म हुई आरोपियों की कहानी.

 

ये भी पढ़ें-   Hyderabad encounter: गुलाब के फूलों से हुआ पुलिस का स्वागत, पीड़िता के पड़ोसियों ने बांधी राखी

हैदराबाद केस : जहां हैवानियत…वहीं आरोपियों का ‘The End’, पढ़ें 10 दिन में कब, क्‍या हुआ