370 पर बयान देकर घिर गए दिग्विजय-चिदंबरम, गिरिराज बोले- देश से खिलवाड़ करते रहे कांग्रेसी

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है कि चिदंबरम तुष्टिकरण की भाषा बोलते हैं. कांग्रेस पूरे देश में उंगलियों के टिप्स पर सिमट कर रह गई है.


नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने को लेकर कांग्रेस का एक धड़ा केंद्र सरकार पर लगातार हमलावर बना हुआ है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और पी चिदंबरम ने इसे लेकर भाजपा पर तीखा हमला बोला है. उधर, भारतीय जनता पार्टी भी कांग्रेस पर इसे लेकर हमलावर हो गई है.

दिग्विजय ने रविवार को दावा किया कि केंद्र के इस फैसले के कारण कश्मीर हमारे हाथ से निकल जाएगा. वहीं, चिदंबरम ने कहा कि मुस्लिम बहुल होने के कारण कश्मीर से भाजपा ने अनुच्छेद 370 को हटाया.

‘कश्मीर आज जल रहा है’ 
मध्यप्रदेश के सीहोर के दौरे पर आए दिग्विजय ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि ‘मैंने आप लोगों से कहा था कि अगर धारा 370 हटी तो इसके गंभीर परिणाम होंगे. देखिए आज कश्मीर जल रहा है. इन्होंने (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) अपने हाथ आग में झुलसा लिए हैं. कश्मीर को बचाना हमारी प्राथमिकता है.

उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से अपील करता हूं कि इस समस्या का जल्दी हल कराइए, नहीं तो कश्मीर हमारे हाथ से निकल जाएगा.


‘अगर जम्मू-कश्मीर हिंदू बहुल राज्य होता तो…’
पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने कहा, “अगर जम्मू-कश्मीर हिंदू बहुल राज्य होता तो भगवा पार्टी इस राज्य का विशेष दर्जा ‘नहीं’ छीनती. भाजपा ने अपनी ताकत से अनुच्छेद को समाप्त किया. जम्मू-कश्मीर अस्थिर है और अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसियां इस अशांत स्थिति को कवर कर रही हैं लेकिन भारतीय मीडिया घराने ऐसा नहीं कर रहे हैं.”

उन्होंने कहा कि ‘उनका (भाजपा) दावा है कि कश्मीर में हालात ठीक हैं. अगर भारतीय मीडिया घराने जम्मू-कश्मीर में अशांति की स्थिति को कवर नहीं करते हैं तो क्या इसका मतलब स्थिरता होता है?’


‘चिदंबरम जैसे नेताओं के चेहरा हुआ बेनकाब’
बीजेपी नेता कांग्रेसी नेताओं के इन बयानों को लेकर हमलावर हो गए हैं. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है कि चिदंबरम तुष्टिकरण की भाषा बोलते हैं. कांग्रेस पूरे देश में उंगलियों के टिप्स पर सिमट कर रह गई है.

गिरिराज ने कहा, “चिदंबरम और गुलाम नबी आजाद जैसे नेताओं के चेहरे बेनकाब हो गए है. कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटाए जाने से पूरे देश में खुशी है. यह फैसला देशहित के लिए है. यह फैसला कश्मीर में रह रहे समाज के निचले तबके, पाकिस्तान से आए लोगों और जिन्हें न्याय नहीं मिल रहा था उनके अनुरूप है.”

‘सबसे ज्यादा आतंकी और कांग्रेस प्रभावित’
मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि इस फैसले से सबसे ज्यादा आंतकी और कांग्रेस प्रभावित हुई है. कांग्रेस पहले से ही बहुत बुरी हालत में है. अब इस तरह के बयान देकर वो अपना सब कुछ खत्म कर देगी. आज वो पाकिस्तानियों और आतंकियों के साथ कड़ी है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के ये कौन लोग हैं. ये वही लोग हैं जो पाकिस्तान ये कहने के लिए गए थे कि मोदी जी को हम तो हटा नहीं पा रहे हैं, पाकिस्तान मदद कर दे. कांग्रेस वही काम कर रही है जो आतंकवादी और अलगाववादी करते थे.

‘कश्मीरियों से पूछो 370 पर उनका रवैया’
दिल्ली के जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी ने कांग्रेस, बीजेपी समेत कश्मीर की सियासी पार्टियों पर भी निशाना साधा. बुखारी ने कहा कि ‘कश्मीर के नोजवानों से, औरतों से, बजुर्गों से जाकर पूछो कि 370/35A हटने से उनका रवैया क्या है? कश्मीर में जो पार्टियां अपने आप को सेक्युलर कहती रहीं उन्होंने कश्मीरियों को क्या दिया? आज जो पार्टियां कश्मीर में झंडा उठाकर सेक्युलर की बात कर रही हैं, आज कश्मीरियों को उनसे ही ज्यादा शिकायत है.’

उन्होंने कहा कि नौजवानों को शिकायत यही रही की हमारे साथ जुल्म-ज्यादती इन तमाम पार्टियों ने की. बेरोजगारी अपनी हदों को पारकर गयी. उसके बाद उन्होंने बंदूकें उठाई और मिलिटेंट समूह थे,जिन्होंने उनका इस्तमाल किया और उनको बंदूके थमाई, उनकी ट्रेनिंग कराई. पहले जो पत्थर का इस्तेमाल होता था फिर बंदूकों का इस्तेमाल होने लगा.

ये भी पढ़ें-

जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख को दिखाया काला, ट्वीट पर बुरी तरह ट्रोल हुईं स्‍वरा भास्‍कर

देशभर में बकरीद की धूम: मस्जिदों में अदा की गई नमाज, लोग दे रहे ईद की मुबारकबाद

Man vs Wild: बेयर ग्रिल्‍स के साथ पीएम मोदी की रोमांचक यात्रा, आज टेलीकास्‍ट होगा शो