गोडसे की औलाद मुझे भी गोली मार सकते हैं: असदुद्दीन ओवैसी

ओवैसी ने कहा कि सरकार ने कश्मीर की डेमोग्राफी बदलने के इरादे से धारा 370 हटा है. उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि घाटी में गैर मुस्लिम बीजेपी नेता मुख्यमंत्री बने इसलिए वह ऐसा कर रहे हैं.

हैदराबाद: एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने आर्टिकल 370 को लेकर केंद्र सरकार पर हमला जारी रखा है. बुधवार को उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस मसले पर अपने विचार मीडिया से साझा किए. उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार का फैसला बताता है कि उन्हें कश्मीर से प्यार है कश्मीरियों से नहीं है.

ओवैसी ने कहा कि 80 लाख लोगों को कश्मीर में कैद कर रखा है. इस माहौल ने तो इमरजेंसी की याद दिला दी है. उन्होंने आर्टिकल 370 को हटाए जाने के फैसले को असंवैधानिक करार देते हुए कहा कि साउथ एशिया में एक मात्र फंक्शनल डेमोक्रेसी कहीं है तो वो सिर्फ भारत में है. उन्होंने इसी के साथ केंद्र सरकार से सवाल करते हुए कहा कि लोगों को कैद करना कम्युनिकेशन बंद कर देना क्या हमारी डेमोक्रेसी की कामयाबी है?

मीडिया में ओवैसी पर हिंदुस्तान में बैठ पाकिस्तान के मंसूबों को अंजाम देने की खबरें भी चल रही हैं. इसके जवाब में उन्होंने कहा कि उनपर इल्जाम लगते रहते हैं. इन लोगों का बस चले तो ये मुझे गोली भी मार देंगे. गोडसे ने गांधी को गोली मारी थी. गोडसे की औलाद आज भी इस देश में हैं. ये गोडसे की औलाद मुझे भी गोली मार सकते हैं.

कश्मीर में मौजूदा हालात पर ओवैसी ने कहा कि हम चाहते हैं कि कम्युनिकेशन को बहाल किया जाए. लोगों को घरों से निकलने दिया जाए. जिनको गिरफ्तार किया गया है, उन्हें रिहा किया जाए. घाटी में मुख्यधारा के नेताओं की गिरफ्तारी पर ओवैसी ने कहा, “जो लोग कल तक हिंदुस्तान का झंडा उठाकर हिंदुस्तान के संविधान की दुहाई देकर चुनाव लड़ते थे, आज आपने (सरकान ने) उनका जनाजा निकाल दिया. ये आपकी कौन सी सियासत है.”

ओवैसी ने कहा कि सरकार ने कश्मीर की डेमोग्राफी बदलने के इरादे से धारा 370 हटा है. उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि घाटी में गैर मुस्लिम बीजेपी नेता मुख्यमंत्री बने इसलिए वह (बीजेपी शासित सरकार) ऐसा कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें: बालाकोट में आतंकी ठिकानों को ढेर करने वाले वायु सेना के जांबाज पायलट होंगे सेना मेडल से सम्मानित