भारत के 74वें स्वतंत्रता दिवस पर Google ने बनाया खास Doodle, संस्कृति-कला और संगीत की झलक

भारत के स्वतंत्रता दिवस (Independence Day of India) के सम्मान में, गूगल (Google) ने दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की स्वतंत्रता की याद में संगीतमय डूडल (Doodle) शेयर किया है.
google celebrates india independence, भारत के 74वें स्वतंत्रता दिवस पर Google ने बनाया खास Doodle, संस्कृति-कला और संगीत की झलक

भारत के 74वें स्वतंत्रता दिवस (74th Independence Day) के मौके पर पूरे देश में जश्न का माहौल है. भले ही देश कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) से जूझ रहा है, लेकिन देशवासी आजादी का जश्न मनाने में पीछे नहीं हैं. देश आज उन वीरों को याद कर रहा है, जिन्होंने आजादी के लिए अपनी जान दे दी. भारत की आजादी का जश्न केवल देश के लोग ही नहीं बल्कि गूगल (Google) भी मना रहा है. आज यानि शनिवार को भारत के 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर गूगल ने एक बहुत ही खास डूडल (Doodle on Independence Day) बनाया है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

भारत की संस्कृति, कला और संगीत की झलक

भारत के स्वतंत्रता दिवस के सम्मान में, गूगल ने दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की स्वतंत्रता की याद में संगीतमय डूडल शेयर किया है. डूडल में भारत की संस्कृति, कला और संगीत की झलक दिखाई देती है. मुंबई के आर्टिस्ट सचिन द्वारा बनाए गए इस गूगल डूडल (Google Doodle) में भारत के कई लोक वाद्ययंत्र (Folk Instruments) हैं.

6 हजार साल से भी ज्यादा पुरानी संगीत विरासत

यह इंस्ट्रूमेंट्स भारत के समृद्ध संगीत विरासत को दर्शाते हैं, जो कि 6,000 सालों से भी ज्यादा पुरानी है. डूडल में शहनाई, तुतेरी, ढोल, वीणा और शारंगी को दिखाया गया है. यह संगीत विविधता, भारतीय संस्कृति को दर्शाती है, जो कि आप पूरे देशभर में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर मनाई जा रही है.

ऐसे मिली डूडल बनाने वाले आर्टिस्ट सचिन को प्रेरणा

ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अपने एक बयान में सचिन ने बताया कि उन्हें यह संगीतमय डूडल बनाने की प्रेरणा कहां से मिला. सचिन ने कहा कि दार्शनिक स्तर पर, मेरी प्रेरणा इस देश की विविधता थी. यह समृद्ध सांस्कृतिक मुझे हमेशा आश्चर्यचकित करता है. डूडल के एग्जिक्यूशन के लिए, मैंने अलग-अलग संगीत वाद्ययंत्रों को शामिल किया. इस विचार को जीवन में लाने के लिए कलामकारी, मधुबनी, वारली, गोंड, फड और पिचवाई जैसे विभिन्न भारतीय कला रूपों से मैंने प्रेरणा ली.

उन्होंने यह भी शेयर किया कि स्वतंत्रता दिवस का उनके जीवन में व्यक्तिगत रूप से क्या मतलब है. सचिन ने कहा किस्वतंत्रता दिवस प्रत्येक नागरिक के लिए गर्व की बात है और मेरे लिए एक कलाकार के रूप में. यह आपके विचारों, आइडिया, व्यूज को व्यक्त करने की स्वतंत्रता का प्रतीक है. मैं उन सभी लोगों के लिए अपनी स्वतंत्रता का श्रेय देता हूं जिन्होंने इसका सपना देखा और इसके लिए लड़े.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts