तेलंगाना: डॉक्टर ने ट्रैक्टर चलाकर COVID-19 मरीज का शव पहुंचाया श्मशान

डॉ. श्रीराम ने कहा कि उन्होंने ट्रैक्टर इसलिए चलाया ताकि ड्राइवर को समझाया जा सके कि कोरोना (Corona) के खिलाफ जंग में मुस्तैद रहना प्रशासनिक जिम्मेदारी है और इसका पालन किया जाना चाहिए.

तेलंगाना (Telangana) में कोरोना मरीजों और उनके शवों को लेकर आये दिन सामने आने वाली दिल दहलाने वाली घटनाओं के बीच, रविवार को सोशल मीडिया पर एक डॉक्टर का वीडियो सामने आया है. वीडियो में डॉक्टर खुद ट्रैक्टर चलाकर COVID-19 मरीज का शव को अंतिम संस्कार के लिए श्मशान ले जाते दिख रहे हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

ड्राइवर ने COVID-19 मरीज के शव को श्मशान ले जाने से इनकार कर दिया

तेलंगाना के पेडापल्ली जिले में रविवार को एक सरकारी अस्पताल में एक कोरोना मरीज की मौत हो गई. अस्पताल में शव को ले जाने के लिए तुरंत एम्बुलेंस नहीं मिल पाया, जिसके बाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने एक ट्रैक्टर की व्यवस्था की, लेकिन ट्रैक्टर ड्राइवर ने COVID-19 मरीज के शव को अंतिम संस्कार के लिए श्मशान ले जाने से इनकार कर दिया. जिसके बाद जिले के मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर श्रीराम ने PPE किट पहनकर खुद ही ट्रैक्टर चलाया और शव को श्मशान ले गए.

डॉक्टर श्रीराम ने बताया कि,’जिले के इस अस्पताल में कोरोना संक्रमण से मौत का यह पहला मामला था. इसलिए अस्पताल के कर्मचारियों को भी नहीं पता था कि COVID-19 मरीज के शव का अंतिम संस्कार कैसे किया जाता है. अस्पताल में शव को ज्यादा देर तक सुरक्षित रखने के लिए मुर्दाघर भी नहीं है, ना ही शव को ले जाने के लिए तुरंत एम्बुलेंस मिल पाया.’

डॉक्टर श्रीराम ने PPE किट पहनकर खुद ही ट्रैक्टर चलाया और शव को श्मशान ले गए

डॉक्टर श्रीराम ने कहा,’अस्पताल से खबर आने के बाद मैंने म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन को फ़ोन किया, जिन्होंने एक ट्रैक्टर की व्यवस्था की. लेकिन ट्रैक्टर ड्राइवर ने COVID-19 मरीज के शव को श्मशान ले जाने से इनकार कर दिया. जिसके बाद उन्होंने खुद PPE किट पहनी और बॉडी को लेकर श्मशान घाट तक गए, ताकि शख्स का पूरे रीति-रिवाज के साथ अंतिम संस्कार किया जा सके.’

डॉक्टर श्रीराम ने बताया कि मरीज के परिवारवालों को भी PPE पहनाया गया और उनकी मदद से उन्होंने शव को पैक कर ट्रैक्टर में रखवाया. उन्होंने कहा कि वो खेती भी करते हैं इसलिए उन्हें ट्रैक्टर चलाना आता है. डॉक्टर ने कहा कि जिले का मेडिकल ऑफिसर होने के नाते ये मेरी जिम्मेदारी थी कि शव का उचित तरीके से अंतिम संस्कार किया जा सके. डॉ. श्रीराम ने कहा कि उन्होंने ट्रैक्टर इसलिए चलाया ताकि ड्राइवर को समझाया जा सके कि कोरोना के खिलाफ जंग में मुस्तैद रहना प्रशासनिक जिम्मेदारी है और इसका पालन किया जाना चाहिए.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

 

Related Posts