“सरकार से अब भरोसा ही उठ गया,” सुभाश्री की मौत पर बोले मद्रास हाई कोर्ट के जज

जस्टिस शेषसायी ने कहा, "इस देश में लोगों की जान की कोई अहमियत नहीं है. यह एक नौकरशाही उदासीनता है. माफ करें, सरकार से हमारा विश्वास उठ गया है."
होर्डिंग्स, “सरकार से अब भरोसा ही उठ गया,” सुभाश्री की मौत पर बोले मद्रास हाई कोर्ट के जज

राज्य में राजनीतिक दलों के होर्डिंग्स पर प्रतिबंध लगाने के आदेश को लागू करने में विफल रहने के लिए मद्रास हाई कोर्ट ने शुक्रवार को तमिलनाडु सरकार को जमकर फठकार लगाई है. गुरूवार को चेन्नई में एक 23 वर्षीय लड़की की मौत का जिक्र करते हुए, कोर्ट ने कहा कि यह घटना “नौकरशाही उदासीनता” का परिणाम थी.

जस्टिस शेषसायी ने कहा, “इस देश में लोगों की जान की कोई अहमीयत नहीं है. यह एक नौकरशाही उदासीनता है. माफ करें, सरकार से हमारा विश्वास उठ गया है.” कोर्ट ने कहा कि वह अवैध फ्लेक्स बोड्स के खिलाफ आदेश दे देकर थक गए हैं, इसी के साथ उन्होंने अधिकारियों को दोपहर के भोजन के बाद इसकी रिपोर्ट देने के लिए कहा.

इस बीच, DMK प्रमुख एम के स्टालिन ने इस घटना पर राज्य सरकार को फटकार लगाई और इसे महिला की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने सवाल करते हुए कहा, “सरकार और अयोग्य पुलिस अधिकारियों की लापरवाही के कारण सुभास्री की मौत हो गई. अवैध बैनर्स ने एक और जान ले ली. सत्ता के भूखे और अराजकतावादी शासन में कितने और लोग अपनी जान गवाएंगे?”

मालूम हो कि पल्लीकरनई में कामाक्षी अस्पताल के पास गुरुवार को 23 वर्षीय सुभाश्री के ऊपर डिवाइडर पर लगा एक होर्डिंग गिर गया था. जिसके बाद उसने अपना संतुलन खो दिया और सड़क पर गिर गई, जिसके बाद वह एक पानी के टैंकर के नीचे आ गई और उसकी मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें: लड़ाकू विमान तेजस ने की ‘अरेस्ट लैंडिंग’, नौसेना में शामिल होने के लिए तैयार

Related Posts