जाकिर नाइक को भारत वापस लाने की प्रक्रिया में जुटी है सरकार: विदेश मंत्री

साल 2017 में NIA ने जाकिर नाइक पर आतंकियों को उकसाने और भड़काने वाले भाषण देने का आरोप लगाते हुए मुंबई NIA की विशेष अदालत के समक्ष चार्जशीट दाखिल की थी.

विवादास्पद इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस के लिए भारत के अनुरोध पर इंटरपोल के विरोध के मद्देनजर, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को कहा कि भारत मलेशिया के साथ प्रत्यर्पण अनुरोध पर काम करने की प्रक्रिया में लगा हुआ है.

जयशंकर का यह बयान मंगलवार को मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद के बयान के बाद आया, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस्लामिक उपदेशक को भारत में प्रत्यर्पित किए जाने के दावे को खारिज किया गया था. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा “जाकिर नाइक के लिए एक प्रत्यर्पण अनुरोध है. हम उसे वापस लाना चाहते हैं और हम इसके लिए काम कर रहे हैं.”

ये भी पढ़ें: विदेश मंत्री एस जयशंकर बोले- POK हमारा है, एक दिन वहां हमारी मौजूदगी होगी

मालूम हो कि साल 2017 में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने जाकिर नाइक पर आतंकियों को उकसाने और भड़काने वाले भाषण देने का आरोप लगाते हुए मुंबई NIA की विशेष अदालत के समक्ष चार्जशीट दाखिल की थी.

जाकिर नाइक जुलाई 2016 में भारत छोड़कर भागने गया था. जाकिर पर भारतीय दंड संहिता (IPC) के गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) और धारा 120B, 153A, 295A, 298 और 505 (2) के तहत आरोप लगाए गए थे.

ये भी पढ़ें: TV9 के सवाल पर बोले विदेश मंत्री- ह्यूस्टन इवेंट में भारत-अमेरिका संबंध होंगे और मजबूत