यूपीए-2 से ज्यादा मोदी सरकार में बढ़ी प्रति व्यक्ति जीडीपी, केंद्र का राहुल गांधी को जवाब

केंद्र सरकार ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के आईएमएफ ग्राफ हमले का जवाब दिया है. सरकारी सूत्रों ने मोदी सरकार और यूपीए-2 में प्रति व्यक्ति जीडीपी (GDP) में हुए बढ़ोत्तरी की तुलना करते हुए कांग्रेस नेता पर पलटवार किया.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 1:28 am, Thu, 15 October 20
file photo

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बुधवार को आईएमएफ का एक ग्राफ शेयर करते हुए केंद्र सरकार पर जीडीपी को लेकर निशाना साधा. उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के भारत की प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की तुलना पड़ोसी देश बांग्लादेश से की. राहुल गांधी ने ग्राफ शेयर करते हुए कहा कि 2020 में भारत और बांग्लादेश की जीडीपी 1888 डॉलर होगी.

राहुल गांधी ने कहा कि आने वाले समय में बांग्लादेश की जीडीपी भारत से आगे निकल सकती है. राहुल गांधी के हमले का सरकार ने जवाब दिया है. सरकारी सूत्रों ने मोदी सरकार की तुलना यूपीए-2 से करते हुए राहुल गांधी पर पलटवार किया.

यह भी पढ़ें : IMF का ग्राफ शेयर कर राहुल गांधी ने केंद्र को घेरा, कहा-बांग्लादेश भारत से आगे निकलने को तैयार

सरकार के सूत्रों ने कहा कि भारत की जीडीपी 2019 में क्रय शक्ति के मामले में बांग्लादेश की तुलना में 11 गुना अधिक थी और जनसंख्या 8 गुना ज्यादा थी. आईएमएफ के अनुसार क्रय शक्ति के मामले में साल 2020 में भारत की प्रति व्यक्ति जीडीपी 6284 डॉलर है और बांग्लादेश की 5139 डॉलर है.

प्रति व्यक्ति जीडीपी बढ़ोत्तरी की तुलना

सरकारी सूत्रों ने कहा कि आईएमएफ ने 2021 में भारती की जीडीपी 8.8 फीसदी बढ़ने का अनुमान लगाया है जो बांग्लादेश के 4.4 प्रतिशत का दोगुना है. वर्तमान सरकार में प्रति व्यक्ति जीडीपी साल 2014-15 में 83,091 रुपए से बढ़कर 2019-20 में 1,08,620 रुपए हो गई है. इस दौरान इसमें 30.7 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई. वहीं यूपीए-2 सरकार में ये 2009-10 में 65,394 रुपए से बढ़कर 2013-14 में 78,348 रुपए हुई थी. इस दौरान इसमें सिर्फ 19.8 प्रतिशत का इजाफा हुआ था.

राहुल गांधी का हमला

आईएमएफ का ग्राफ बताता है कि भारत और बांग्लादेश दोनों की प्रति व्यक्ति जीडीपी 2020 के लिए 1,888 अमेरिकी डॉलर होगी. बुधवार को राहुल गांधी ने अपने ट्वीट के जरिए भाजपा के राजनीतिक एजेंडे को भारत की जीडीपी में गिरावट को लेकर जिम्मेदार ठहराया था.

राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार ने अपने पिछले 6 साल के कार्यकाल में बीजेपी के एजेंडे को ही लागू करने की कोशिश की है. उन्होंने कहा था कि बीजेपी का नफरत भरा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद 6 साल की ठोस उपलब्धि है. बांग्लादेश भारत से आगे निकलने के लिए तैयार है.

यह भी पढ़ें : हाथरस: जातीय भेदभाव और छुआछूत पर बोले राहुल, कहा- ‘उठानी होगी अन्‍याय के खिलाफ आवाज’