मुस्लिम राष्ट्रीय मंच में CAA-NRC पर बवाल, RSS नेता इंद्रेश कुमार भी रहे मौजूद

10 जनवरी को देशभर में नागरिकता सशोधन कानून लागू कर दिया गया जिसके चलते कई जगहों पर इसके विरोध में प्रदर्शन किए जा रहे हैं.
Muslim Rashtriya Manch, मुस्लिम राष्ट्रीय मंच में CAA-NRC पर बवाल, RSS नेता इंद्रेश कुमार भी रहे मौजूद

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने नागरिकता संशोधन कानून और NRC को लेकर लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए हाल ही में एक आयोजन रखा. इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने हो हल्ला मचा दिया और CAA-NRC के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पोस्टर दिखाए.

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के इस कार्यक्रम में RSS के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार भी मौजूद रहे. प्रदर्शनकारियों के हाथ में नागरिकता संशोधन कानून और NRC विरोधी बैनर मौजूद थे.

गौरतलब है कि 10 जनवरी को देशभर में नागरिकता सशोधन कानून लागू कर दिया गया जिसके चलते कई जगहों पर इसके विरोध में प्रदर्शन किए जा रहे हैं. वहीं सरकार की तरफ से भी लोगों को CAA और NRC के प्रति जागरुक करने और जानकारी देने के लिए जगह-जगह अभियान चलाए जा रहे हैं.

CAA भारतीय मुस्लिमों के खिलाफ नहीं

CAA को लेकर एक धारणा बन गई है कि इससे भारतीय मुस्लिम अपने अधिकारों से वंचित हो जाएंगे, लेकिन सच यह है कि ऐसा करना चाहें तो भी इस कानून के तहत ऐसा नहीं किया जा सकता है. दरअसल, CAA को देशभर में प्रस्तावित NRC से जोड़कर देखा जा रहा है, इसलिए ऐसी धारणा बनी है.

CAA को लेकर देशभर में अभी जो विरोध हो रहा है वह दो तरह की आशंकाओं से प्रेरित है.

पूर्वोत्तर में इसका विरोध इसलिए हो रहा है कि अधिकांश लोगों को आशंका है इसके लागू होने पर उनके इलाके में अप्रवासियों की तादाद बढ़ जाएगी जिससे उनकी जनांकिकी और भाषाई विशिष्टता बरकरार नहीं रह जाएगी.

वहीं, भारत के अन्य क्षेत्रों मसलन, केरल, पश्चिम बंगाल और दिल्ली में CAA का विरोध इसमें मुस्लिमों को शामिल नहीं किए जाने को लेकर हो रहा है. उनका मानना है कि यह संविधान के विरुद्ध है.

देश के विभिन्न हिस्सों में इसको लेकर हिंसात्मक विरोध प्रदर्शन हुए हैं. विगत कुछ दिनों से हो रहे विरोध प्रदर्शन में असम और पश्चिम बंगाल में रेलवे स्टेशनों को जलाने की घटनाएं सामने आई हैं.

ये भी पढ़ें- PDP नेता हक खान की नजरबंदी खत्म, जल्द ही कई और नेताओं की होगी रिहाई

Related Posts