FBI की 10 मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में शामिल है गुजरात का यह भगोड़ा, मिलकर खोज रहे दो देश

अहमदाबाद के विरमगाम का रहने वाला भद्रेश FBI के 10 मुख्य भगोड़ों की सूची में शामिल है. उसके ऊपर एक लाख डॉलर का इनाम है.

अमेरिकी एजेंसी फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) को भारत का भगोड़ा भद्रेश कुमार पटेल की पिछले चार साल से तलाश है. अमेरिका और भारत में एक साथ की जा रही यह अब तक की सबसे बड़ी खोजबीन है. अहमदाबाद के विरमगाम का रहने वाला भद्रेश FBI के 10 मुख्य भगोड़ों की सूची में शामिल है. उसके ऊपर एक लाख डॉलर का इनाम है.

पत्नी की हत्या कर दी थी

FBI के मुताबिक पटेल कोल्ड-ब्लडेड मर्डर और बहुत खतरनाक अपराधी है. जिसने मैरीलैंड स्थित हैनोवर के डंकिन डोनट स्टोर में बेहद सनकी तरीके से अपनी जवान पत्नी की हत्या कर दी थी. हालांकि 10 मुख्य भगोड़ों की सूची बदलती रहती है और भद्रेश पटेल एक जगह से दूसरी जगह भागता रहा है.

2017 में शामिल हुआ नाम

उसका नाम FBI सूची में (2019) में भी लगातार बना हुआ है. इस सूची में कुछ खतरनाक भगोड़े शामिल हैं. पटेल का नाम इस सूची में पहली बार 2017 में शामिल हुआ.

FBI को उसकी जांच में मदद करने वाले देश के पुलिस जासूर कैली हार्डिग ने कहा, “पटेल की पत्नी जवान थी जिसकी काफी बर्बरता से हत्या कर दी गई. हम ऐसे हत्यारे की तलाश कर रहे हैं.”

CCTV फुटेज से सामने आया मामला

पलक 21 साल की थी और उस समय पटेल की उम्र 24 साल थी. दोनों डंकिन डोनट्स के स्टोर में रात के शिफ्ट में काम कर रहे थे. स्टोर से मिले सीसीटीवी के फुटेज के अनुसार, भद्रेश और पलक रैक के पीछे गायब होने से पहले साथ-साथ चल रहे थे.

कुछ पल बाद पटेल दोबारा मौजूद होता है. वह उसके बाद किचेन ओवन को बंद करता है और वह स्टोर से इस तरह से निकलता है जैसे कुछ नहीं हुआ. उसके शरीर का हावभाव और चेहरे की बनावट से वह काफी नॉर्मल लग रहा होता है.

चाकू से हमले के कई निशान थे

इस बर्बर हत्या के मामले में FBI की जांच से खुलासा हुआ कि पलक की डेड बॉडी बाद में 12 अप्रैल 2015 को बरामद हुई. उस पर चाकू से हमले के कई निशान थे.

बर्बर तरीके से पीटने और चाकू से हमला कर पलक को उसने मौत के घाट उतार दिया. बाद में पटेल स्टोर से भागकर पास स्थित अपने अपार्टमेंट में लौट आया. उसके बाद उसने अपने कुछ निजी सामान इकट्ठा किया. फिर एक कैब किराये पर ली और नेवार्क स्थित हवाई अड्डे के पास एक होटल में चला गया.

ये भी पढ़ें-

‘मर जाएंगे पर पाकिस्तान नहीं जाएंगे’, बेघर हुए लोगों ने सुनाई दुख भरी दास्तां

बौद्ध स्तूप पर फोटो खिंचा रहा था भारतीय, भूटान सरकार ने लिया हिरासत में, अब ऐसे हो रहा ट्रोल