बीजेपी सांसद हंसराज हंस की चाहत- जेएनयू का नाम बदलकर मोदी के नाम पर रखा जाए

बीजेपी सांसद और सूफी गायक हंसराज हंस ने जेएनयू का नाम पीएम मोदी के नाम पर रखने की चाहत ज़ाहिर की है.

दिल्ली से चुने गए नए नवेले सांसद हंसराज हंस ने नया शिगूफा छोड़ा है. सूफी गायक के बाद नेता बने हंस ने विचार रखा कि जेएनयू का नाम पीएम मोदी के नाम पर रखा जाए. हंसराज हंस दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में जम्मू-कश्मीर और अनुच्छेद 370 पर बोल रहे थे.

hans, बीजेपी सांसद हंसराज हंस की चाहत- जेएनयू का नाम बदलकर मोदी के नाम पर रखा जाए

उन्होंने कहा कि दुआ करो सब अमन से रहें, बम ना चलें.. हमारे बुजुर्गों ने गलतियां की हैं हम भुगत रहे हैं.. मैं कहता हूं इसका नाम एमएनयू कर दो, मोदी जी के नाम पर भी तो कुछ होना चाहिए. जेएनयू देश की प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटीज़ में से एक है जिसकी स्थापना 1969 में हुई थी और देश के पहले प्रधानमंत्री के नाम पर इसका नामकरण हुआ था.


5 अगस्त को मोदी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार ने राष्ट्रपति के आदेश से जम्मू-कश्मीर का स्पेशल स्टेटस अनुच्छेद 370 हटाकर खत्म कर दिया था. इसके अलावा सरकार ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्रशासित प्रदेश बनाने का प्रस्ताव भी रखा. इन्हीं फैसलों के साथ बीजेपी ने अपने मूल मुद्दों में से एक को पूरा करने में कामयाबी हासिल की. खुद लालकिले की प्राचीर से भाषण देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि एक देश और एक संविधान अब सच्चाई बन गया है और भारत को इस पर गर्व है. .