हरियाणा विधानसभा चुनाव: ये है त्रिशंकु सरकार के आसार बताने वाला इकलौता सर्वे

एग्जिट पोल में बताया गया है कि 31 प्रतिशत जाट वोटों पर जेजेपी ने कब्जा किया है और अन्य के खाते में छह से 10 सीटें गईं हैं.

आजतक-एक्सिस माई इंडिया की ओर से मंगलवार को जारी एग्जिट पोल हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार के लिए बुरा संकेत दे रहा. अगर एग्जिट पोल सच साबित हुआ तो हरियाणा में त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति होगी. ऐसे में इनेलो टूटकर बनी दुष्यंत चौटाला की जनता जननायक पार्टी(जेजेपी) किंगमेकर बन सकती है.

चुनाव परिणाम 24 अक्टूबर को घोषित होंगे. आजतक-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल ने भाजपा को कुल 90 में से 32-44 सीटें दी हैं, वहीं कांग्रेस को 30 से 42 सीटें मिलने का अनुमान है. यह एग्जिट पोल बताता है कि हरियाणा में दोनों राष्ट्रीय दलों के बीच कांटे की टक्कर है. भाजपा और कांग्रेस के वोट शेयर में भी मामूली फर्क है. भाजपा को 33 प्रतिशत तो कांग्रेस को 32 प्रतिशत वोट मिलता दिख रहा है.

खास बात है कि ओम प्रकाश चौटाला की इंडियन नेशनल लोकदल(इनेलो) टूटकर दुष्यंत चौटाला की अगुवाई में बनी जनता जननायक पार्टी(जेजेपी) को छह से 10 सीटें मिल रही हैं. इस प्रकार अगर सचमुच त्रिशंकु विधानसभा बनी, तो दुष्यंत चौटाला की जेजेपी सरकार बनाने में किंगमेकर की भूमिका में आ सकती है. एग्जिट पोल में बताया गया है कि 31 प्रतिशत जाट वोटों पर जेजेपी ने कब्जा किया है. हिसार, रोहतक और करनाल में जेजेपी की मजबूत पकड़ सामने आई है. एग्जिट पोल में अन्य के खाते में छह से 10 सीटें गईं हैं.

गौरतलब है कि 2014 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को सर्वाधिक 47 सीटें मिलीं थीं, वहीं कांग्रेस को 15 सीटों से संतोष करना पड़ा था, जबकि इनेलो को 19, हरियाणा जनहित कांग्रेस को दो, निर्दलीय एवं अन्य को सात सीटें मिलीं थीं. राज्य में तब मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व में भाजपा ने बहुमत से सरकार बनाई थी.