5 साल में दोगुनी हुई सीएम खट्टर की संपत्ति लेकिन कैश घट कर रह गया 15 हजार

मनोहर लाल खट्टर के नामांकन पत्र से मिली जानकारी के मुताबिक बीते 5 सालों में उनकी चल/अचल संपत्ति दोगुनी हो गई है. जहां 2014 में उनकी कुल चल/अचल संपत्ति 61 लाख 29 हजार 952 रुपए की थी वहीं 2019 में ये बढ़कर 1 करोड़ 27 लाख 985 रुपए की हो गई है.
, 5 साल में दोगुनी हुई सीएम खट्टर की संपत्ति लेकिन कैश घट कर रह गया 15 हजार

करनाल: महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव की तैयारियों के लिए राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है. हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को करनाल विधानसभा से दूसरी बार नामांकन पत्र दाखिल किया है. खट्टर ने अपने नामांकन पत्र में चल अचल संपत्ति की घोषणा की है.

मनोहर लाल खट्टर के नामांकन पत्र से मिली जानकारी के मुताबिक बीते 5 सालों में उनकी चल/अचल संपत्ति दोगुनी हो गई है. जहां 2014 में उनकी कुल चल/अचल संपत्ति 61 लाख 29 हजार 952 रुपए की थी वहीं 2019 में ये बढ़कर 1 करोड़ 27 लाख 985 रुपए की हो गई है. 2014 में मनोहर लाल के पास 1 लाख रुपए कैश थे लेकिन फिलहाल ये घटकर 15 हजार हो चुके हैं.

2014 में थी इतनी संपत्ति
इसके साथ ही बैंक में जमा पैसों की बात करें तो 2014 में मनोहर लाल के 2 लाख 29 हजार 952 रुपए बैंक में जमा थे जो 2019 में बढ़कर 93 लाख 85 हजार 985 रुपए हो गए हैं. मनोहर लाल खट्टर के पास रोहतक के बनयानी गांव में अपना सिर्फ एक पैतृक मकान और खेतिहर जमीन है जो उन्हें पुरखों से मिली है, जिनकी मौजूदा कीमत करीब 33 लाख रुपए है जो 2014 में 53 लाख रुपए के करीब थी.

2014 में कर्ज पर थे मनोहर लाल खट्टर
2014 में दिए हलफनामे में मनोहर लाल ने 6 लाख 20 हजार रुपए के बैंक लोन का जिक्र किया था लेकिन फिलहाल उसे चुकाया जा चुका है. हलफनामे के मुताबिक 2014-15 वित्तीय वर्ष में मनोहर लाल खट्टर की सालाना आय 11 लाख 25 हजार रुपए थी जो 2018-19 में बढ़कर 28 लाख 95 हजार 972 रुपए हो गई है. 2014 में दिए हलफनामे के मुताबिक तो मनोहर लाल की साल 2013-14 में कुल आय 2 लाख 73 हजार रुपए थी. हलफनामे में मुताबिक मनोहर लाल पर आज तक कोई भी आपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है.

सीएम योगी रहे साथ
नामांकन दाखिल करने से पहले सीएम खट्टर ने करनाल की अग्रवाल धर्मशाला में मां सरस्वती के मंदिर में माथा टेका और फिर वहां हो रहे हवन में आहुति दी. मनोहर लाल के नामांकन में शामिल होने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी पहुंचे थे जिन्होंने मनोहर लाल खट्टर के लिए एक जनसभा को संबोधित किया और उनके लिए वोट मांगे. अपने भाषण में योगी आदित्यनाथ ने मनोहर लाल की जमकर तारीफ की और उन्हें आज़ादी के बाद हरियाणा का सबसे बेहतर मुख्यमंत्री बताया.

Related Posts